AIIMS डायरेक्टर ने स्कूल खोलने की दी सलाह, बताई खास रणनीति

0
260
School-college will open

नई दिल्ली: कोरोना संक्रमण के चलते स्कूल अभी भी बंद चल रहे हैं। जबकि कुछ राज्यों को छोड़ दिया जाए तो बाकी राज्यों में स्थिति काफी सामन्य हो गई है। कुछ शहर ऐसे भी है जहां कोरोना संक्रमण के एक भी केस नहीं रह गए हैं। वहीं अधिकतर राज्यों में स्थितियां सामन्य होने के बावजूद भी स्कूल नहीं खोले गए हैं, क्योंकि कोरोनावायरस की संभावित तीसरी लहर की आशंकओं के बीच ऐसा करना खतरनाक माना जा रहा है। विशेषज्ञों का मानना है कि कोरोना की तीसरी लहर (Covid-19 Third Wave) में बच्चे भी इस महामारी के शिकार बन सकते हैं। वहीं एम्स के डायरेक्टर डॉक्टर रणदीप गुलेरिया ( AIIMS Director Dr Randeep Guleria) ने अब स्कूल खोले जाने की वकालत की हैं। उन्होंने कहा कि एक खास रणनीति बनाकर स्कूल खोले जा सकते हैं।

कोरोना की तीसरी लहर (Covid-19 Third Wave) की आशंकाओं के बीच एम्स के डायरेक्टर डॉक्टर रणदीप गुलेरिया का यह बयान काफी अहम माना जा रहा है। क्योंकि उन्होंने कहा है कि राज्य सरकारें खास रणनीति पर काम करते हुए स्कूलों को फिर से खोलने पर विचार कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि अधिकतर स्कूल कोरोना की पहली लहर के दौरान से बंद हैं, इन्हें अब फिर से खोलने पर विचार करना चाहिए।

इसे भी पढ़ें: कांवड़ यात्रा का केस बंद, अब बकरीद पर बढ़ी रार

वर्चअली क्लास के जरिए हो रही पढ़ाई

बता दें कि कोरोना के खतरे के चलते वर्चअली क्लास चल रही है, जिसके चलते छात्र घरों में रहकर पढ़ाई कर रहे हैं। अनलॉक की तरफ कदम बढ़ाते हुए सरकार ने अक्टूबर से स्कूल खोलने की मंजूरी दी थी, लेकिन कोरोना की तीसरी लहर की प्रबल होती संभावनाओं के बीच इस आदेश को वापस ले लिया गया। क्योंकि कई राज्यों से बच्चों की संक्रमित होने की खबरें आने लगीं। इसके चलते खुल रहे स्कूलों पर एकबार फिर से महामारी का ताला लटक गया।

बच्चों की इम्युनिटी काफी मजबूत

एक रिपोर्ट के अनुसार डॉ. गुलेरिया ने स्कूलों को फिर से खोले जाने का समर्थन करते हुए कहा है जिन जिलों में मामले काफी कम हैं या संक्रमण समाप्त हो गया है, वहां स्कूलों को खोल दिया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि जिन जिलों में संक्रमण दर पांच फीसदी से नीचे है वहां भी स्कूलों को खोला जा सकता है। डॉ. गुलेरिया ने नई जानकारी देते हुए कहा कि देश में ऐसे बच्चों की संख्या काफी कम है जो कोरोना की चपेट में आए हैं। उन्होंने कहा, बच्चों का इम्युनिटी काफी स्ट्रांग है। उन्होंने कहा, कई बच्चों में कोरोनावायरस से लड़ने की प्राकृतिक इम्युनिटि भी तैयार हो चुकी है।

इसे भी पढ़ें: बिना कोविड रिपोर्ट के यूपी में NO Entry

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here