मिलन के मजबूरी

0
317
milan
अरबिन्द शर्मा अजनवी
अरबिन्द शर्मा अजनवी

जग में ज़िन्दा रहे के बाटे,
बात बस एतना जानो!

गर्लफ़्रेंड के किस जनी करिहो,
बात तू हमरी मानो।

मिले जइबो गर्लफ़्रेंड से,
लालच अगर बढइबो।

छींकत, खासत,लिये करोना,
अस्पताल में जइबो।

मोबाइल और टेलीफ़ुन से,
चाहे जेतना बात करो!

बाबू, सोना, जादू, टोना,
मैसेंजर पर,दिन रात करो!

कुछ दिन भूली जा सोना के,
एही में बाटे भलाई।

बस दूर रहल ये बीमारी के,
बाटे एक दवाई।

साफ़ सफ़ाई मुंह पर पट्टी,
रखिहौ दो गज दूरी।

कुछ दिन ना मिलिहो सोना से,
समझो बबूआ मजबूरी।

जान बची बहुतेरे मिलिहें,
तनिको ना अफ़सोस करो।

कहें अजनवी जेतना तोहसे,
ओहीका बस तुम ध्यान धरो।

इसे भी पढ़ें: Meera Chopra ने Priyanka Chopra के बारे में किया बड़ा खुलासा, जानें क्या कहा

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें