यूपी बोर्ड की 12वीं की परीक्षाएं रद्द, टीम-9 के साथ बैठक के बाद सीएम योगी ने लिया फैसला

0
176
UP Board 12th exams canceled

लखनऊ: कोरोना संक्रमण के मामले को देखते हुए यूपी बोर्ड की 12वीं की परीक्षाएं रद्द कर दी गई हैं। यह फैसला सीबीएसई की 12वीं की परीक्षाएं रद्द किए जाने के बाद लिया गया है। बता दें कि इससे पहले हाई स्कूल की परीक्षा रद्द कर दी गई थी और संक्रमण के मामले को देखते हुई जुलाई के दूसरे सप्ताह में इंटरमीडिएट की परीक्षा कराए जाने की बात कही गई थी। सीबीएसई की 12वी की परीक्षा रद्द किए जाने के बाद राज्यों ने भी इस दिशा में तेजी से कदम बढ़ाने शुरू कर दिए है। अब तक कई राज्यों ने 12वीं की परीक्षा रद्द करने का एलान कर चुके हैं। ज्ञात हो कि उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद की कक्षा 12 की बोर्ड परीक्षा हेतु इस वर्ष 26,10,316 छात्रों का पंजीकरण हुआ है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा और टीम-9 के साथ बैठक करने के बाद यूपी बोर्ड की 12वीं की परीक्षा रद्दा करने का फैसला लिया है। उन्होंने कहा कि छात्रों के स्वास्थ्य से बढ़कर कुछ नहीं है। ऐसे में छात्रों की सुरक्षा सबसे पहले। बता दें कि इससे पहले उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने 29 मई को कोविड-19 वायरस के संक्रमण से फैली हुई महामारी के कारण उत्पन्न हुई असाधारण परिस्थितियां में, व्यापक छात्र हित में प्रदेश सरकार की तरफ से वर्ष 2021 में निर्धारित उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद की कक्षा 10 की बोर्ड परीक्षा को निरस्त करने का निर्णय लिया था।

इसे भी पढ़ें: लिया लेक्सिस जो बन गईं मशहूर पॉर्न स्टार, जानें क्यों उठाया ऐसा कदम

उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा बताया था कि माध्यमिक शिक्षा विभाग, उत्तर प्रदेश, गत वर्ष से ही, निरंतर, छात्र हित में कार्यवाही कर रहा है। उत्तर प्रदेश, देश का प्रथम राज्य है जिसने गत वर्ष 2020 के जुलाई माह में ही करोना महामारी के दृष्टिगत पठन-पाठन में हो रहे व्यवधान के दृष्टिगत, पाठ्यक्रम में 30% कमी कर दी थी। माध्यमिक शिक्षा विभाग द्वारा पिछले वर्ष के लॉकडाउन से ही ऑनलाइन पठन-पाठन के साथ-साथ दूरदर्शन, स्वयं प्रभा चैनल, ई- विद्या चैनल, वर्चुअल स्कूल तथा यूट्यूब पर माध्यमिक शिक्षा परिषद के ई-ज्ञान गंगा चैनल के माध्यम से बच्चों का पठन-पाठन सुनिश्चित किया गया है। इसके साथ 29 लाख से अधिक व्हाट्सएप ग्रुप प्रधानाचार्य, शिक्षक एवं छात्रों के बनाए गए तथा पठन-पाठन की नियमित अनुश्रवण व्यवस्था बनाई गई है।

इसे भी पढ़ें: तोते ने गाया गाना, सुनकर आप भी रह जाएंगे हैरान

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here