खतरे में Maharashtra के गृह मंत्री की कुर्सी, पूर्व पुलिस कमिश्नर ने लगाया यह बड़ा आरोप

0
274
Anil Deshmukh

मुंबई। एंटीलिया केस और मनसुख हिरेन की मौत के मामले की आंच महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख तक पहुंचने की जो कयासबाजी की जा रही थी वह सच होती नजर आ रही है। मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख पर जा आरोप लगाए हैं वह बेहद ही गंभीर हैंं। राज्य के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को एक पत्र लिखा है, जिसमें उन्होंने गृह मंत्री अनिल देशमुख हर महीने 100 करोड़ रुपए मांगने का आरोप लगाया है। इतना ही नहीं पत्र में उन्होंने यह भी लिखा है कि सचिन वझे को ऐसा करने के लिए अनिल देशमुख ने ही आदेश दिया था।

100 करोड़ रुपए महीना वसूली का था टारगेट

पूर्व पुलिस ​कमिश्नर परमबीर सिंह ने सीएम उद्धव ठाकरे को लिखे पत्र में कहा कि पुलिस अधिकारी सचिन वझे को गृह मंत्री अनिल देशमुख ने वसूली करने को कहा था। उन्होंने कहा ​है कि सचिन वझे ने खुद मुझे इस बारे में बताया था। उन्होंने आरोप लगाया कि अनिल देशमुख ने सचिन वझे को कई बार अपने सरकारी आवास पर बुलाया था और हर महीने 100 करोड़ रुपए की वसूली का टारगेट भी दिया। अनिल देशमुख ने सचिन वझे से ये कहा था कि मुंबई में 1750 बार और रेस्टारेंट चल रहे हैं। इन लोगों से दो-तीन लाख रुपए महीना वसूला जाए तो 50 करोड़ रुपए बन जाते हैं। बाकि की वसूली यानी सोर्सों से की जा सकती है।

इसे भी पढ़ें: RSS का बड़ा फैसला, दत्‍तात्रेय होसबोले बने संघ के नए सरकार्यवाह

letter Parambir Singh

सांसद डेलकर के सुसाइड केस में भी बनाया दबाव

मुख्यमंत्री को लिखे पत्र में परमबीर सिंह ने दादरा नगर हवेली के सांसद मोहन डेलकर के सुसाइड केस में भी अनिल देशमुख की तरफ से दबाव डालने का आरोप लगाया। परमबीर सिंह के के मुताबिक गृहमंत्री अनिल देशमुख इस केस में पहले ही दिन से चाह रहे थे कि खुदकुशी के लिए उकसाने का मामला दर्ज हो। परमबीर ने लिखा है कि इस मामले में मेरी राय थी कि अगर किसी तरह का खुदकुशी के लिए उकसाने का काम हुआ भी है तो ये मामला मुंबई की जगह दादरा नगर हवेली में दर्ज होना चाहिए।

अनिल देशमुख ने दी सफाई

पूर्व पुलिस कमिश्नर के आरोपों पर राज्य के गृह मंत्री देशमुख ने सफाई देते हुए इसे सिरे से नकार दिया है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा है कि उन पर लगाए गए सभी आरोप बेबुनियाद है। उन्होंने लिखा है परमबीर सिंह ने संबंधित मामलों में खुद को बचाने के लिए ये भ्रामक आरोप लगाए गए हैं। वहीं महाराष्ट्र सरकार पर पहले से हमलावर बीजेपी ने गृह मंत्री अनिल देशमुख की इस्तीफे की मांग कर रही है। पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा है कि महाराष्ट्र में इस तरह का पहला मामला है जब पुलिस के इतने बड़े अधिकारी ने इतना गंभीर आरोप लगाया हो। इसलिए महाराष्ट्र सरकार को अनिल देशमुख को तत्काल हटाने हुए पूरे मामले की निष्पक्ष जांच में सहयोग करना चाहिए।

इसे भी पढ़ें: कांग्रेस का घोषणा पत्र जारी कर बोले राहुल, अजमल की जगह असम पर हमला कर रही बीजेपी

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here