गुलाम नबी ने पीएम मोदी की तारीफ पढ़े कसीदे, कहा- अपनी असलियत नहीं छिपाई

0
302
Ghulam Nabi Azad

नई दिल्ली। हाल ही में राज्यसभा से रिटायर हुए कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ में कसीदे पढ़े हैं। हालांकि इससे पहले वह सदन में पीएम मोदी की बातों को याद करते हुए इतने भावुक हो गए थे कि उनकी आंख से आंसू झलक पड़े थे। सियासी गलियारों में गुलाम नबी आजाद का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रति आकर्षण के कई मायने निकाले जा रहे हैं।

लेकिन दो वरिष्ठ नेता एक दूसरे का इतना सम्मान करते हैं, इससे आज के नेताओं को सबक लेना चाहिए। वैसे गुलाम नबी आजाद को कांग्रेस से नाराज बताया जा रहा है। वहीं आज गुलाम नबी आजाद ने पीएम मोदी की तारीफ करते हुए उन्हें जमीन से जुड़ा हुआ नेता बता डाला। उन्होंने कहा है कि लोगों को पीएम मोदी से सीखना चाहिए कि कामयाबी की बुलंदियों पर जाकर भी वह कैसे अपनी जड़ों को याद रखते हैं।

इसे भी पढ़ें: Opinion Poll: जानें किन राज्यों में फिर से खिलने जा रहा कमल और कहां से कांग्रेस को मिलेगी गुड न्यूज

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बचपन में चाय बेचने की घटना का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि बुलंदियों पर पहुंचने के बाद भी पीएम मोदी ने अपनी असलियत नहीं छिपाई। गुलाम नबी आजाद आज जम्मू-कश्मीर में एक सभा को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने कहा कि बहुत से लीडरों की कई सारी बातें अच्छी लगती हैं। मैं खुद गांव से ताल्लुक रखता हूं और इस पर मुझे बहुत फक्र होता है। हमारे प्रधानमंत्री भी कहते हैं वह गांव से हैं। उन्होंने अपने बारे में कभी कुछ नहीं छिपाया, वह कहते हैं कि बर्तन मांजता था, चाय बेचता था, निजी रूप में हम उनके खिलाफ हैं, लेकिन उनकी इमानदारी का कायल हूं, जो अपनी असलियत नहीं छिपाते। अगर आप अपनी असलियत छिपाते है तो आप मशीनरी दुनिया में जी रहे होते हैं।

गौरतलब है कि गुलाम नबी आजाद काफी वरिष्ठ नेता है, हाल ही में रिटायरमेंट होने पर राज्यसभा में प्रधानमंत्री ने उनकी जमकर तारीफ की थी। उनसे जुड़़ी एक घटना का जिक्र करते हुए पीएम मोदी भावुक भी हो गए थे। इस दौरान पीएम मोदी ने आजाद को सैल्यूट भी किया था। इसके बाद में गुलाम नबी आजाद भी काफी भावुक हो गए थे।

इसे भी पढ़ें: राज्यपाल के साथ विधायकों ने की हाथापाई, पांच विधायक निलंबित

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here