फेरों से पहले हुई दुल्हन की मौत, छोटी बहन से करा दी शादी, एक तरफ उठी डोली तो दूसरी तरफ अर्थी

0
551
Surabhi
मृतका सुरभि की फाइल फोटो

इटावा। सच ही कहा गया है कि रिश्ते ऊपर वाला ही बनता है। इंसान केवल माध्यम है। ऐसी ही घटना उत्तर प्रदेश के इटावा जनपद के समसपुर गांव में देखने को मिला है। गांव में बारात आई हुई थी। शादी की सारी रस्में चल रही थी, कि सात फेरों से पहले दुल्हन के सीने में अचानक दर्द उठा और उसकी मौत हो गई। हालांकि घर वालों ने दुल्हन की छोटी बहन से शादी करा दी। इसके बाद बारात विदा होने के बड़ी बहन की अर्थी उठाई गई। इस घटना से पूरा गांव स्तब्ध है। तो यही लोगों भाग्य और विधि के विधान को लेकर चर्चाएं तेज हो गई हैं। बता दें कि लड़की के पिता की पहले ही मौत हो चुकी है।

जानकारी के अनुसार समसपुर गांव निवासी स्व. रमापति की बेटी सुरभि की शादी इकदिल क्षेत्र के नावली गांव के एक युवक से तय हुई थी। दूल्हा शादी के लिए बरात लेकर सुरभि के घर पहुंचा। द्वारपूजा और भोजन के बाद दूल्हा व दुल्हन के सात फेरों की तैयारियां चल रही थी कि इसी बीच सुरभि सीने में दर्द की शिकायत करते हुए बेहोश हो गई। परिजनों ने आनन—फानन में सुरभि को अस्पताल ले गए। जहां डॉक्टरों ने जांच के बाद सुरभि को मृत घोषित कर दिया। इसके बाद गांव के बड़े—बुजुर्गों की सलाह पर दुल्हन की छोटी बहन निशा की दुल्हे के साथ शादी करा दी गई।

इसे भी पढ़ें: पहली डोज कोविशील्ड तो दूसरी लगा दी कोवैक्सीन

शादी की रस्म पूरी होने और छोटी बेूटी के साथ बारात विदा होने के बाद सुरभि का अंतिम संस्कार किया गया। एक बेटी की अंतिम और दूसरी की ससुराल में एक साथ विदाई से उसकी मां एकदम से टूट गई है। उसका रो—रोकर बुरा हाल है। फिलहाल बेटा मां को संभालने का प्रयास कर रहा है। वहीं लोगों की जुबान पर इस समय यही बात है कि होता वहीं है जो ऊपर वाला चाहता है।

इसे भी पढ़ें: डॉ. अरुण ने असिस्टेंट प्रोफेसर के पद से इस्तीफा

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें