Vijay Hazare Trophy : मुंबई ने किया खिताब पर कब्जा, आदित्य तरे ने जड़ा तूफानी शतक

0
347
नई दिल्ली। अरूण जेटली स्टेडियम में खेले गये विजय हजारे ट्रॉफी (Vijay Hazare Trophy) के फाइनल में मुंबई ने उत्तर प्रदेश को 6 विकेट से हराकर चौथी बार खिताब पर कब्जा जमा लिया। टाॅस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए उत्तर प्रदेश की टीम ने 4 विकेट के नुकसान पर 312 रन का स्कोर बनाया। जवाब में खेलते हुए मुंबई की टीम ने पृथ्वी शाॅ और आदित्य तरे की बेहतरीन पारियों की बदौलत 42वें ओवर में ही लक्ष्य हासिल कर लिया।
यह भी पढ़ें-मिताली ने एक बड़ी उपलब्धि को किया हासिल
उत्तर प्रदेश के काम न आयी माधव कौशिक की शतकीय पारी
टाॅस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए उत्तर प्रदेश ने बेहतरीन शुरुआत की। पहले विकेट के लिए माधव कौशिक और समर्थ सिंह ने 122 रन जोड़े। समर्थ सिंह 55 रन बनाकर आउट हो गए लेकिन माधव कौशिक शतकीय पारी के बाद भी दूसरे छोर पर डटे रहे। अक्षदीप नाथ ने 40 गेंदों पर 55 रन की पारी खेली। यूपी की पारी का पूरा फोकस माधव कौशिक की बल्लेबाजी रही जिन्होंने नाबाद 158 रन की पारी खेली। बल्लेबाजों के उत्कृष्ट प्रदर्शन के दम पर उत्तर प्रदेश ने 50 ओवरों में 4 विकेट खोकर 312 रन का विशाल स्कोर बोर्ड पर लगा दिया। मुंबई की तरफ से तनुश कोटियान ने सबसे ज्यादा 2 विकेट लिये।
पृथ्वी शाॅ और आदित्य तरे ने बौना किया स्कोर
312 रनों का पीछा करते हुए मुंबई ने ताबड़तोड़ शुरुआत की। कप्तान पृथ्वी शॉ और यशस्वी जायसवाल ने पहले विकेट के लिए महज 9.1 ओवरों में 89 रन जोड़ दिये। पृथ्वी शॉ 39 गेंद पर 73 रन बनाकर आउट हो गए। पृथ्वी ने अपनी इस पारी में 10 चौके और 4 छक्के जड़े। पृथ्वी के बाद आदित्य तरे ने बेहतरीन बल्लेबाजी का प्रदर्शन किया। यशस्वी जायसवाल भी 29 रन बनाकर आउट हो गए लेकिन आदित्य तरे ने 107 गेंदों पर 18 चौके की मदद से नाबाद 118 बल्लेबाजी कर टीम को जीत की दहलीज तक पहुंचा दिया। मुंबई की तरफ से शिवम दुबे ने 42 और शम्स मुलानी ने 36 रन की महत्वपूर्ण पारियां खेली।
यह भी पढ़ें-पृथ्वी शॉ ने जड़ा एक और शतक
शानदार रहा पृथ्वी शाॅ का सीजन
पृथ्वी शॉ के लिए विजय हजारे ट्रॉफी 2021 का सीजन शानदार रहा। पूरे टूर्नामेंट के दौरान पृथ्वी शॉ का बल्ला चला और फाइनल में भी वह बेहतरीन खेल दिखाने में सफल रहे। पृथ्वी ने 8 मैचों की 8 पारियों में 165.40 की बेहतरीन औसत के साथ 827 रन बनाए। 8 मैचों में उन्होंने 4 शतक भी लगाया जिसमें एक दोहरा शतक भी शामिल था। इस दौरान उनका स्ट्रॉइक रेट 134.88 का रहा। उन्होंने इस दौरान 105 चौके व 25 छक्के भी जड़े। इस सीजन में सबसे ज्यादा रन बनाने के मामले में दूसरे नंबर पर कर्नाटक के बल्लेबाज देवदत्त पडीक्कल रहे।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here