जानें क्यों भारत के लिए जीत है जरुरी ! अगला मुकाबला 24 से

0
298

अहमदाबाद। भारत और इंग्लैण्ड के पांच दिवसीय तीसरा टेस्ट मुकाबला 24 से 28 फरवरी से खेला जायेगा। बुधवार से हो रहे इस टेस्ट क्रिकेट मुकाबले में दोनों ही टीमें जीत के लिए जद्दोजहद करतीं नजर आयेंगी। तीसरा मुकाबला अहमदाबाद के मोटेरा स्टेडियम में खेला जाएगा। विश्व के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम में यह पहला मुकाबला होगा। वहीं दोनों टीमों पहली बार ही डे-नाइट टेस्ट में एक दूसरे के आमने सामने होंगी। ऐसे में किसी को नहीं पता कि इस डे-नाइट मैच के दौरान पिच किस तरह से व्यवहार करेगी। ऐसे में दोनों टीमों के लिए यह काफी कड़ी चुनौती होगी। दूसरा टेस्ट जीत कर भारत ने विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) के फाइनल में पहुंचने की अपनी उम्मीदों को जिंदा रखा है। लेकिन फाइनल में जगह बनाये रखने के लिए उसको दोनों टेस्ट मुकाबले जीतने होंगे।

बता दें, चार टेस्ट मैचों की सीरीज का पहला मुकाबला इंग्लैंड ने जीता था, जबकि दूसरे मुकाबले में टीम इंडिया ने जीत हासिल की थी। ऐसे में सीरीज अभी 1-1 की बराबरी पर है। यह टेस्ट सीरीज विश्व टेस्ट चैंपियनशिप का हिस्सा है। भारत अगर विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंचा चाहता है तो उसे कोशिश करनी होगी कि वो सीरीज में कम के कम एक और मुकाबला जीते और इंग्लैंड सीरीज का कोई भी मुकाबला नहीं जीते।
भारतीय टीम के लिए तीसरे टेस्ट मैच से पहले एक और खुशखबरी आई है। अनुभवी तेज गेंदबाज उमेश यादव की टीम में वापसी हुई है। उमेश इंग्लैंड के खिलाफ तीसरे टेस्ट में टीम में वापसी कर सकते हैं।
बात अगर दूसरे टेस्ट में गेंदबाजों की करें तो भारतीय टीम में पिछले मैचों में उम्दा प्रदर्शन करने वाले रविचंद्रन अश्विन और अक्षर पटेल तीसरे टेस्ट में भी अपना शानदार प्रदर्शन दोहरा सकें। अक्षर पटेल ने सात अंग्रेज बल्लेबाजों को पवेलियन की राह दिखायी थी जबकि रविचंद्रन अश्विन ने हरफनमौला खेल दिखाते हुये एक शतक के साथ आठ विकेट चटकाये थे। अब बात बल्लेबजों की करें तो रोहित शर्मा जबरदस्त बल्लेबाजी का प्रदर्शन करते हुये एक शतक जड़ा था। वहीं टीम के कप्तान विराट कोहली, अंजिक्य रहाणे और रिषभ पंत ने भी अपनी बल्लेबाजी के दम पर अंग्रेज गेंदबाजों की नाक में दम कर दिया था। वहीं दूसरे टेस्ट में इंग्लैण्ड के गेंदबाजों के अच्छा प्रदर्शन भी हार को नहीं टाल सका। मोईन अली ने आठ भारतीय खिलाड़ियों को पवेलियन की राह दिखायी। वहीं जैक लीच ने छह और ओली स्टोन चार खिलाड़ियों के स्टम्प उखाड़े। हालांकि इंग्लैण्ड के बल्लेबाजों का प्रदर्शन प्रदर्शन संतोषजनक नहीं रहा।

टीम इंडिया डब्ल्यूटीसी की प्वाइंट टेबल में

इंग्लैंड को हराने के बाद टीम इंडिया डब्ल्यूटीसी की प्वाइंट टेबल में दूसरे स्थान पर पहुंच गया है जबकि इंग्लैंड की टीम चौथे स्थान पर खिसक गई है। न्यूजीलैंड की टीम पहले ही फाइनल में जगह बना चुकी है। इंग्लैंड को दूसरे टेस्ट में हराने के बाद भारत ने चार मैचों की टेस्ट सीरीज में 1-1 की बराबरी हासिल कर ली है भारत अब अगर चार मैचों की टेस्ट सीरीज में इंग्लैंड को 2-1 से या 3-1 से हरा देती है तो वह विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) के फाइनल में पहुंच जाएगी। इंग्लैंड अगर भारत को 3-1 से हरा देती है तो इंग्लैंड की टीम विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंच जाएगी। हालांकि इंग्लैंड अगर भारत को 2-1 से भी हरा देती है तो आस्ट्रेलिया फाइनल में पहुंच जाएगी। लेकिन इंग्लैंड और भारत के बीच चार मैचों की यह टेस्ट सीरीज 1-1 या 2-2 से ड्रॉ होती है, तो आस्ट्रेलिया डब्ल्यूटीसी के फाइनल में पहुंच जाएगी और न्यूजीलैंड के साथ फाइनल खेलेगी।

‘नए पिच पर भविष्यवाणी करना मुश्किल’

भारतीय बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा ने मोटेरा के सरदार पटेल स्टेडियम को लेकर कहा है कि नए पिच पर टेस्ट अनुभव काम नहीं आएगा, खासकर तब जब आपके पास एक ही पिंक बॉल टेस्ट मैच हो। नंबर 3 बल्लेबाज पुजारा ने कहा कि इस नई पिच पर गेंद के व्यवहार की भविष्यवाणी करना कठिन है।
उन्होंने कहा, ‘यह एक नया स्टेडियम है, एक नई पिच है। एक बार जब हम और ज्यादा मैच खेलते हैं, तो हमें पिच का पता चल जाएगा। टेस्ट शुरू होने से पहले हमारे पास अभी भी तीन-चार दिन हैं और उस दौरान बहुत कुछ बदल सकता है। गुलाबी गेंद के साथ मैच की भविष्यवाणी करना बहुत मुश्किल है’।

दोनों ही पिच पर मौजूद है घास

गुजरात क्रिकेट एसोसिएशन के एक अधिकारी के अनुसार, “मोटेरा में दो तरह की पिच तैयार की गयी है। एक पिच में काली मिट्टी का इस्तेमाल किया गया है जिस पर गति और अतिरिक्त उछाल देखने को मिलेगा और ये तेज गेंदबाजों के लिए मददगार साबित होगी। दूसरी पिच लाल मिट्टी से तैयार की गयी है, इस पर टर्न और बाउन्स देखने को मिलेगा जो की स्पिन गेंदबाजों को मदद करेगा। दूसरी पिच देखने में बिलकुल दूसरे टेस्ट में इस्तेमाल चेन्नई की पिच की तरह है।” साथ ही उन्होंने कहा, “दोनों ही पिचों पर अच्छी खासी घास मौजूद है जिसके चलते ये कहना मुश्किल है कि ये किस तरह का बर्ताव करेंगी।”

यह है दोनों टीमें

भारतीय टीम: भारत टीम: विराट कोहली (कप्तान), रोहित शर्मा, मयंक अग्रवाल, शुभमन गिल, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे (उप-कप्तान), केएल राहुल, हार्दिक पांड्या, ऋषभ पंत (विकेट कीपर), रिद्धिमान साहा (विकेट कीपर), आर अश्विन, कुलदीप यादव, अक्षर पटेल, वाशिंगटन सुंदर, ईशांत शर्मा, जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद सिराज।

इंग्लैंड टीम: जो रूट (कप्तान), जेम्स एंडरसन, जोफ्रा आर्चर, जॉनी बेयरेस्टो, डोमिनिक बेस, स्टुअर्ट ब्रॉड, रोरी बर्न्स, जैक क्राउले, बेन फोक्स, डैन लॉरेंस, जैक लीच, ओली पोप, डोम सिब्ले, बेन स्टोक्स, ओली स्टोन, क्रिस वोक्स और मार्क वुड.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here