ताउते ने मचाया कोहराम, चार की मौत, कई राज्यों में अलर्ट

0
159

नयी दिल्ली। गुजरात और महाराष्ट्र समेत सात राज्यों पर अरब सागर में बन रहे चक्रवात ताउते का खतरा मंडरा रहा है। कर्नाटक के 6 जिलों में इस तूफान ने काफी त​बाही मचायी है। इन जिलों के 73 गांव इससे प्रभावित हुए हैं। राज्य में अब तक 4 लोगों की इस तूफान ताउते की वजह से मौत हो चुकी है। इन 6 जिलों में से 3 समुद्री सीमा से सटे हैं। सभी में पिछले 24 घंटों से लगातार भारी बारिश हो रही है। यहां 90 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से हवा चल रही है। चक्रवात ताउते रविवार सुबह गोवा के समुद्री तट से टकराया। यहां समुद्र में ऊंची लहरें उठ रही हैं। गोवा के तट पर तेज हवाओं के साथ-साथ मूसलाधार बारिश भी हो रही है। कई पेड़ सड़क पर गिर गए। भारतीय वायुसेना ने बताया कि उन्होंने अगले कुछ दिन तटीय इलाकों में कोविड-19 राहत अभियान पर ध्यान केंद्रित करने का फैसला किया है क्योंकि खराब मौसम की वजह से बाद में इन इलाकों में अभियान प्रभावित हो सकता है। तूफान ‘ताउते’ के कारण दक्षिणी राजस्थान के जोधपुर, उदयपुर, अजमेर व कोटा संभाग के जिलों में आंधी और बारिश की गतिविधियों में बढ़ोतरी हो सकती है। इस दौरान 40 से 50 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से हवायें चलेंगी। मौसम विभाग ने लक्षद्वीप द्वीप समूह, केरल, तमिलनाडु, कर्नाटक, कोंकण और गोवा, गुजरात और पश्चिम राजस्थान में चक्रवात के प्रभाव के कारण हल्की और मध्यम से लेकर अत्यधिक भारी बारिश की भी भविष्यवाणी की है। विभिन्न हिस्सों में रेड और ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल की 50 से अधिक टीमें पांच राज्यों- केरल, कर्नाटक, तमिलनाडु, गुजरात और महाराष्ट्र में ड्यूटी पर हैं।

भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के चक्रवात चेतावनी प्रभाग के मुताबिक, दक्षिण महाराष्ट्र-गोवा तथा इससे सटे हुए कर्नाटक के तटों पर हवा की गति 70-80 से लेकर 90 किलोमीटर प्रतिघंटे तक हो सकती है और 16 मई को उत्तर महाराष्ट्र के तटों के पास हवा की गति 40-50 से 60 किलोमीटर प्रति घंटे तक हो सकती है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने रविवार को बताया, “इसके उत्तर पश्चिम की ओर बढ़ने और 17 (मई) की शाम तक गुजरात तट पर पहुंचने की बहुत संभावना है और यह 18 मई को तड़के पोरबंदर और (भावनगर जिले में) महुवा के बीच से राज्य के तट को पार करेगा।” आईएमडी ने कहा कि उसने गुजरात तथा दमन एवं दीव के लिए येलो अलर्ट जारी किया है। आईएमडी ने बताया कि 18 मई तक हवा की गति 150-160 किलोमीटर प्रति घंटे तक बढ़ने के आसार हैं जबकि कुछ वक्त के लिए हवा की गति 175 किलोमीटर प्रति घंटे तक भी पहुंच सकती हैं।

इन्हें भी देखें :— बॉम्बे हाईकोर्ट ने भी यूपी मॉडल को सराहा, WHO भी कर चुका है तारीफ

केरल में सैकड़ों मकान क्षतिग्रस्त

वहीं केरल में मूसलाधार बारिश होने और तेज हवाएं चलने से सैकड़ों मकान क्षतिग्रस्त हो गए, पेड़ उखड़ गए और बिजली आपूर्ति घंटों तक बाधित रही। समुद्र में ऊंची लहरें उठने से तटीय इलाकों में जनजीवन बाधित हो गया। राज्य में कई जगहों पर पेड़ उखड़ गए और मकानों तथा वाहनों पर गिरे। पेड़ों के गिरने से कई स्थानों पर यातायात भी बाधित हो गया जबकि इडुक्की में मुन्नार-वट्टावडा रोड कुछ वक्त तक बाधित रहा।

पीएम ने की बैठक, तैयारियों का लिया जायजा

Congress asks PM why he is not adopting "India First" approach in vaccination - The Economic Timesतूफान ताउते के खतरे को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक उच्च स्तरीय बैठक की और तैयारियों का जायजा लिया। प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से बताया गया कि मीटिंग में केंद्र सरकार के सीनियर अफसरों के साथ-साथ महाराष्ट्र, केरल, तमिलनाडु, कर्नाटक और गुजरात के अधिकारी शामिल हुए। बैठक में इस बात पर चर्चा हुई कि कैबिनेट सचिव तटीय राज्यों के मुख्य सचिवों और संबंधित केंद्रीय मंत्रालयों/एजेंसियों के लगातार संपर्क में रहेंगे। गृह मंत्रालय 24 घंटे इस पर नजर बनाए रखेगा और राज्यों के संपर्क में रहते हुए फौरन जरूरी सुविधाएं मुहैया करवाएगा।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here