कोरोना का कहर: यूपी में 10 मई तक सभी स्कूल-कॉलेज में बंद, ऑनलाइन क्लास पर भी रोक

0
272
School-college closed

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को दृष्टिगत रखते हुए योगी सरकार ने कक्षा एक से 12वीं तक के सभी स्कूल—कॉलेजों में 10 मई तक छुट्टी करने का आदेश जारी कर दिया है। साथ ही कोचिंग संस्थानों को भी बंद रखने तथा ऑनलाइन कक्षाओं को भी स्थगित करने का निर्देश दिया गया है। इतना ही नहीं शुक्रवार रात 8 बजे से मंगलवार सुबह 7 बजे तक के साप्ताहिक लॉकडाउन को प्रभावी तरीके से लागू करने का निर्देश दिया गया है। राहत की बात यह है कि इस दौरान औद्योगित गतिविधियां यथावत संचालित रहेंगी। साथ ही टीकाकरण के लिए आवागमन करने वालों को भी छूट दी जाएगी। आवश्यक सेवाएं भी जारी रहेंगी। ज्ञात हो कि आवश्यकतानुसार पास भी जारी किया जा सकता है।

परिजनों को दी जाए मरीजों के स्वास्थ्य की जानकारी

कोरोना नियंत्रण टीम के साथ बैठक के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्त्यनाथ ने कहा कि मरीजों के परिजनों को रोजाना मरीज के स्वास्थ्य की जानकारी अवश्य दी जाए। हरहाल में सभी सरकारी और निजी अस्पताल में यह व्यवस्था प्रभावी ढंग से लागू की जाए। साथ ही उन्होंने मुख्य सचिव कार्यालय को इस व्यवस्था की समीक्षा करने का निर्देश दिया है। उन्होंने ऑक्सीजन की आपूर्ति को और बेहतर करने पर भी जोर दिया। साथ ही उन्होंने कहा कि लागातर प्रयासों से आज प्रदेश के सभी मेडिकल कॉलेजों में ऑक्सीजन की उपलब्धता कराई जा रही है। लखनऊ, प्रयागराज, कानपुर, वाराणसी जैसे अधिक संक्रमण वाले शहरों में स्थिति पर लगातार नजर रखी जा रही है। वहीं आगरा के लिए विशेष प्रबंध किए गए हैं।

इसे भी पढ़ें: Corona: वक्त है संभल जाइए, अस्पताल के हालात बहुत डरावने हैं, देखें तस्वीरों में…

इसी पक्रम में बलिया, चंदौली, अमरोहा, बिजनौर, लखीमपुर, बहराइच जैसे जिलों की ओर विशेष ध्यान दिए जाने पर जोर दिया गया है। साथ ही इन शहरों में संबंधित मंडलों से आपूर्ति कराए जाने के निर्देश दिए। सीएम योगी ने कहा कि ऑक्सीजन के संतुलित उपयोग के दृष्टिगत ऑक्सीजन ऑडिट की प्रारंभिक रिपोर्ट के आधार पर आपूर्ति-वितरण के संबंध में आगे की कार्यवाही सुनिश्चित की जाए। उन्होंने कहा कि किसी भी मेडिकल कॉलेज/अस्पताल में ऑक्सीजन का अनावश्यक दुरुपयोग न होने पाए।

इसे भी पढ़ें: यूपी में बढ़ा लॉकडाउन का दायरा, अब तीन दिन रहेगी पाबंदी

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here