भयानक रूप ले रहा चक्रवाती तूफान यास, कोलकाता-भुवनेश्वर एयरपोर्ट बंद

0
416
Cyclone Yaas

कोलकाता। चक्रवाती तूफान ‘यास’ भयानक रूप ले चुका है और ओडिशा व पश्चिम बंगाल के तटों की ओर तेजी से बढ़ रहा है। मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार चक्रवाती तूफान यास (Cyclone Yaas) अगले कुछ घंटों में तटीय इलाकों से टकराएगा त​था दोपहर के बाद इसके और खतरनाक होने का अंदेशा हैं। पूर्वानुमान के मुताबिक चक्रवाती तूफान यास का असर ओडिशा और पश्चिम बंगाल सहित 8 राज्यों पर पड़ेगा। बता दें कि लैंडफॉल से पहले ही तूफान यास (Cyclone Yaas) ने तांडव मचाना शुरू कर दिया है। ओडिशा के भद्रक जिले में तेज हवाओं के साथ भारी बारिश शुरू हो गई है।

वहीं चक्रवाती तूफान यास (Cyclone Yaas) की वजह से पश्चिम बंगाल के पूर्वी मिदनापुर जिले में हाई टाइड की स्थिति बन रही है। इसी के साथ ही समुद्र के जलस्तर में पहले से ही बढ़ोतरी हरे चुकी है। दीघा समुद्र तट पर भी पानी का स्तर बढ़ने से यहां के इलाके पूरी तरह से डूब गए हैं।

इसे भी पढ़ें: Cyclone Yaas: पूर्वी राज्यों में बारिश शुरू

इन जगहों पर होगा ज्यादा असर

मौसम विभाग के मुताबिक चक्रवाती तूफान यास का सबसे ज्यादा असर ओडिशा और पश्चिम बंगाल में होगा। ओडिशा के पुरी, खुर्दा, कटक, भद्रक, जगतसिंगपुर, बालासोर, गंजम और मयूरभंज में तूफान ज्यादा खरतनाक होने का अनुमान है। जबकि पश्चिम बंगाल के कोलकाता, हुगली, मेदिनीपुर, हावड़ा, दक्षिण 24 परगना और उत्तर 24 परगना में भारी नुकसान पहुंचने का अनुमान है। इसके साथ ही पूरे पूर्वी भारत को अलर्ट पर रखा गया है।

Cyclone Yaas

मौसम विभाग के जानकारों की मानें तो पूर्वी भारत में पश्चिम बंगाल और ओडिशा के अलावा झारखंड और बिहार में इसका असर देखा जा सकता है। जबकि दक्षिण भारत में आंध्र प्रदेश में तूफान यास का सबसे ज्यादा नुकसान पहुंचने का अंदेशा है, वहीं अंडमान निकोबार में इस तूफान कहर मचाना लगभग तय है। पूर्वानुमान के मुताबिक इन इलाकों में न सिर्फ 185 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से हवा चलेगी, बल्कि तेज बारिश होने की पूरी संभावना है। वहीं पश्चिम बंगाल और ओडिशा के अलावा झारखंड और बिहार के कई हिस्सों में बारिश शुरू हो गई है।

इसे भी पढ़ें: पति-पत्नी के रिश्तों पर डाल रहा असर, इस वजह से बढ़ रहा तनाव

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें