Coronavirus: पति-पत्नी के रिश्तों पर डाल रहा असर, इस वजह से बढ़ रहा तनाव

0
175
reader problem

लखनऊ। कोरोनावायरस (Coronavirus) की वजह से अधिकत्तर लोग इस समय घरों में ही रह रहे हैं। ऐसा पहली बार हुआ है जब लोग बाहर के खतरों के चलते पूरा परिवार अपने—अपने घरों में रहने को मजबूर हुआ है। इस बीच पति—पत्नी के बीच झगड़े लगातार बढ़ते जा रहे हैं। ऐक आकलन के मुताबिक उत्तर प्रदेश में पति-पत्नी के बीच लड़ाई के मामले पांच गुना बढ़ गया है। बीएचयू के मनोवैज्ञानिक की ऑनलाइन काउंसलिंग में इस बात का खुलासा हुआ है।

जानकारों की मानें तो आज के दौर में लोगों का जीवन जीने का तरीका बदल गया है। अधिकत्तर लोग काम के सिलसिलें में घरों से बाहर रहने लगे हैं। महिलाएं भी जॉब करने लगी हैं, जिसके चलते उनका भी घर तक सीमित रहना कम हो गया है। लेकिन कोरोना की वजह से देखा जाए तो दूसरा साल चल रहा है और लोग घरों में रहने को मजबूर हैं। ऐसे में तनाव का बढ़ना स्वाभाविक है, क्योंकि पहले जिन गलतियों को नजरंदाज कर दिया जाता था, आज उन्हीं गलतियों पर झगड़े का होना आम हो गया है।

इसे भी पढ़ें: ‘कबूल है’ सुनते ही दुल्हन ने डाली ऐसी हरकत

बीएचयू के मनोविज्ञानियों की ऑनलाइन काउंसिलिंग के आंकड़ों के मुताबिक सामान्य दिनों में हफ्ते में पति-पत्नी के बीच झगड़े के 18 से 20 मामले आते थे। लेकिन अब इनकी संख्या 95 से 100 तक पहुंच गई है। मनोवैज्ञानिकों की सात सदस्यीय टीम की तरफ से जुटाए गए आंकड़ों के मुताबिक पहले पति-पत्नी जिन छोटी-छोटी बातों को नजरअंदाज कर दिया करते थे, वह इसी तरह की बातें विवाद का करण बन गई हैं।

लखनऊ से सबसे ज्यादा मामले

काउंसिलिंग के आंकड़ों के मुताबिक बीते दो महीनों में पति-पत्नी में झगड़ों के कुल 808 मामले सामने आए हैं। इनमें से 15 फीसदी मामले सूबे की राजधानी लखनऊ से हैं। इसके साथ ही 13 फीसदी मामले कानपुर, 11 फीसदी मेरठ, 10 फीसदी बरेली, 9 फीसदी आगरा, सात-सात फीसदी बनारस और गोरखपुर, पांच फीसदी प्रयागराज, चार फीसदी मुरादाबाद से सामने आए है। इसी क्रम में 19 फीसदी मामले राज्य के अन्य जिलों से हैं। आंकड़ों के मुताबिक 2 महीने में लखनऊ से 119, कानपुर से 104, मेरठ से 87, बरेली से 79, आगरा से 73, बनारस से 57, गोरखपुर से 56, प्रयागराज से 41 और मुरादाबाद से 33 विवाद के मामले आए हैं।

इसे भी पढ़ें: Priyanka Chopra ने दिखाया जलवा

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here