coronavirus का साइड इफेक्ट, ठीक हुए मरीजों में बढ़ रही नपुंसकता

0
335
increasing

coronavirus news: कोरोनावायरस की दूसरी लहर ने जनहानि के साथ कई नई समस्याओं को पैदा किया है। कोरोना की दूसरी लहर के साथ आए लक्षणों को लेकर आए दिन हो रहे खुलासे परेशानी बढ़ा रहे हैं। अब इस पर हुई नए रिसर्च में पता चला है कि कोविड-19 से पुरुषों की सेक्स लाइफ भी प्रभावित हो रही है। नए रिसर्च के मुताबिक कोरोना की वजह से पुरुषों में इरेक्टाइल डिसफंक्शन यानि नपुंसकता बढ़ रही है। संक्रमण की वजह से पोस्ट-कोविड स्ट्रेस, डिप्रेशन के साथ-साथ कुछ हद तक शरीर के अंदर होने वाले बदलाव भी जिम्मेदार हैं। इस संदर्भ में विशेषज्ञों ने भी अपनी राय साझा की है।

इरेक्टाइल डिसफंक्शन

मेन्स हेल्थ में छपी स्टडी के बारे में यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया के यूरोलॉजिस्ट डॉ. हॉवर्ड ऑबर्ट कहते हैं कि इसे जानने से पहले इरेक्शन की प्रक्रिया को समझना होगा। उन्होंने कहा, पेनिस (लिंग) तीन सिलेंडर से बना होता है। इसमें ऊपर के दो सिलेंडर स्पंज जैसे फैलने वाले टिश्यू से भरे होते हैं। जबकि निचला सिलेंडर ब्लैडर से यूरिन को पास करता है।

इसे भी पढ़ें: बार बालाओं संग झूमा आज का समाजवाद

जब व्यक्ति सेक्स के लिए उत्तेजित होता है तो वह नर्वस रेस्पॉन्स और उसकी वजह से शुरू होने वाली प्रक्रिया से होता है। इस दौरान ब्लड स्पंजी टिश्यू में आ जाता है और वह फैल जाते हैं। इसका सिस्टम कुछ ऐसा है कि ब्लड वहां आकर रुक जाता है। तब व्यक्ति को इरेक्शन को तैयार होता है। तब यह जरूरी है कि नर्व से पर्याप्त मात्रा में नाइट्रिक ऑक्साइड निकलें। इस दौरान नसें इतनी खुलनी चाहिए कि उससे स्पीड से खून निकल सके। लेकिन जब किसी कारण से ब्लड पेनिस तक नहीं पहुंच पाता तो उसमें इरेक्शन नहीं होता और इसे ही इरेक्टाइल डिसफंक्शन कहते हैं।

increasing

इरेक्टाइल डिसफंक्शन के कारण

एक्सपर्ट्स के अनुसार इरेक्टाइल डिसफंक्शन के कई कारण हैं, इसमें स्ट्रेस, डिप्रेशन और परफॉर्मेंस संबंधी तनाव भी है। लेकिन अगर ब्लड फ्लो में किसी तरह की समस्या आ रही है तो इसका असर इरेक्शन पर पड़ सकता है। वहीं नर्वस सिस्टम में कोई गड़बड़ी या हॉर्मोन सेंसिटिविटी भी इसकी वजह हो सकती है।

विशेषज्ञों के मुताबिक आम तौर पर इरेक्टाइल फंक्शन का सीधा संबंध ब्लड सर्कुलेशन से होता है और इस वजह से इरेक्टाइल फंक्शन में किसी तरह की गड़बड़ी दिल की बीमारियों का भी संकेत है। कोरोनावायरस के संक्रमण की वजह से पूरे शरीर में ऑक्सीजन की सप्लाई प्रभावित होती है, जिसका असर ब्लड सर्कुलेशन पर भी पड़ता है। इससे पेनिस को ब्लड सप्लाई करने वाली धमनियां (आर्टरी) ब्लॉक या संकरी हो जाने का खतरा बढ़ जाता है। ऐसे में अगर ऐसा होता है और पेनिस तक ब्लड नहीं पहुंचेगा, तब इरेक्टाइल डिसफंक्शन हो सकता है।

increasing

जानें पुरुषों की पोस्ट-कोविड सेक्शुअल लाइफ पर हुई स्टडी में क्या है

बता दें कि मार्च, 2021 में जर्नल एंड्रोलॉजी में ‘मास्क अप टू कीप इट अप’ हेडिंग से प्रकाशित रिसर्च पेपर में कोविड-19 और इरेक्टाइल डिसफंक्शन के संबंधों को बताया गया है। इटली के पुरुषों पर की गई इस स्टडी में पता चला कि कोविड-19 की वजह से कार्डियोवस्कुलर सिस्टम को नुकसान पहुंचता है, जो पुरुषों में इरेक्शन की प्रक्रिया को प्रभावित कर रहा है। इसी तरह वर्ल्ड जर्नल ऑफ मेन्स हेल्थ में प्रकाशित एक स्टडी में दावा किया गया है कि कोरोना इन्फेक्शन के कई महीनों बाद भी पेनिस में इन्फेक्शन मिला है। इसमें दावा किया गया है कि कोविड-19 के संक्रमण की वजह से शरीर के कई सेल्स के काम करने के तरीकों पर असर पड़ा है जो इरेक्टाइल डिसफंक्शन का कारण हो सकता है।

वहीं इन स्टडी के नतीजों की पुष्टि करते हुए दिल्ली के सेंटर फॉर रिकंस्ट्रक्टिव यूरोलॉजी एंड एंड्रोलॉजी के डॉ. गौतम बंगा का कहना है कि कोविड-19 ने दो तरह से पुरुषों की सेहत को प्रभावित किया है- इसमें पहला सेक्शुअल और दूसरा मेंटल हेल्थ है।

इसे भी पढ़ें: सूचकांक में केरल शीर्ष पर, उत्तर प्रदेश में पांच अंकों का सुधार

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here