देश में 16 जनवरी से शुरू होगा कोरोना वैक्सीनेशन, पीएम मोदी की हाई लेवल बैठक के बाद हुआ एलान

0
68

नई दिल्ली। भारत कोरोना सं जंग जीतने के आखिरी पड़ाव में हैं। भारत की दो वैक्सीन को आपात इस्तेमाल की मंजूरी मिलने के बाद बाद यह उम्मीद जग गई थी कि देश में जल्द कोरोना वैक्सीनेशन शुरू हो जाएगा। इसका एलान आज हो भी गया, जिसमें कहा गया है कि भारत में 16 जनवरी से कोरोना वैक्सीनेशन शुरू हो जाएगा। भारत सरकार ने स्पष्ट करते हुए कहा है कि वैक्सीनेशन के दौरान हेल्थकेयर और फ्रंटलाइन वर्कर्स को प्राथमिकता दी जाएगी। अनुमान है कि देश में करीब 3 करोड़ हेल्थकेयर और फ्रंटलाइन वर्कर्स है। साथ ही 50 साल से ऊपर वालों को भी तरजीह दी जाएगी। बताया जा रहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज टीकाकरण अभियान की समीक्षा की है। गौरतलब है कि इससे पहले ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया की तरफ से भारत में दो वैक्सीनों के इमरजेंसी इस्तेमाल को मंजूरी दे दी गई थी। इन दोनों वैक्सीनों में सीरम इंस्ट्यिट की कोवीशिल्ड और भारत बायोटेक की कोवैक्सीन शामिल है।

सरकार की तारफ से दी गई जानकारी में कहा गया है कि कोविड-19 टीकाकरण के संदर्भ में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों की तैयारियों के साथ ही साथ देश में कोरोना की ताजा स्थितियों की समीक्षा के लिए आज हाई लेवल बैठक की। बैठक में कैबिनेट सचिव, प्रधान सचिव, स्वास्थ्य सचिव सहित अन्य अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित रहे। देश में आज कोरोना के कुल 18,222 ताजा मामले सामने आए हैं। वहीं शनिवार को कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 1,04,31,639 हो गई है। साथ ही अब तक 1,00,56,651 मरीजों के स्वस्थ होने के बाद देश में ठीक होने वालों की दर 96.41 प्रतिशत तक पहुंच गई है।

इसे भी पढ़ें: मृत महिला को जिंदा कोर्ट लेकर पहुंची पुलिस, दहेज हत्या के केस में आया नया मोड़

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक देश में अभी 2,24,190 संक्रमितों का उपचार चल रहा है, जो कुल संक्रमितों का 2.16 फीसदी है। बीते 24 घंटे में संक्रमण से 228 लोगों की मौत के बाद मृतकों की संख्या बढ़कर 150798 पहुंच गई है। वहीं संक्रमण से मृत्यु दर 1.45 फीसदी है। बता दें भारत में सात अगस्त को संक्रमितों की संख्या 20 लाख, 23 अगस्त को 30 लाख और पांच सितंबर को 40 लाख के पार चली गई थी।

इसे भी पढ़ें: यूपी में अब मकान मालिक मनमाने तरीके से नहीं बढ़ा सकेंगे किराया

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here