व्हाइट हाउस में बवाल के दौरान चार की मौत, वॉशिंगटन डीसी में लगा इमरजेंसी 

0
89

वॉशिंगटन। अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव के नतीजे आने के बाद से तकरार की स्थिति बनी हुई है। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के समर्थकों ने व्हाइट हाउस और कैपिटोल हिल्स के बाहर जमकर बवाल काटा है। इस हंगामे के दौरान चार लोगों की मौत की सूचना है। वहीं अमेरिका में अब तनाव चरम पर पहुंच गया है और वॉशिंगटन डीसी में 15 दिनों के लिए इमरजेंसी घोषित कर दिया गया है। जबकि डोनाल्ड ट्रंप के फेसबुक, ट्विटर और इंस्टाग्राम अकाउंट को सस्पेंड कर दिया गया है और उनके कुछ ट्वीट और वीडियो को भी हटा दिया गया है। जानकारी के अनुसार ट्विटर ने 12 और इंस्टाग्राम ने 24 घंटे के लिए ट्रंप का अकाउंट सस्पेंड किया है। ट्विटर ने अकाउंट सस्पेंड करने के पीछे नागरिक अखंडता नियम का हवाला दिया है।

इसे भी पढ़ें: हर साल पाकिस्तान में एक हजार लड़कियों को जबरन कबूल कराया जाता है इस्लाम

ट्रंप को ट्विटर ने चेतावनी देते हुए कहा है कि अगर वह अपने तीन ट्वीट डिलीट नहीं करते हैं तो उनका अकाउंट 12 घंटे और आगे तक भी सस्पेंड रहेगा। साथ ही यह भी कहा है कि भविष्य में अगर वह ट्विटर के नियमों का पालन नहीं करेंगे तो डोनाल्ड ट्रंप का अकाउंट हमेशा के लिए ब्लॉक कर दिया जाएगा। गौरतलब है कि अमेरिका के 300 साल के इतिहास में ऐसा पहली बार हो रहा हे जब एक चुनाव हारा हुआ राष्ट्रपति अपनी हार स्वीकार करने को तैयार नहीं है। साथ ही उसके समर्थक अमेरिकी संसद को घेर के अपने कब्जे में लेने की कोशिश कर रहे हों। राष्ट्रपति ट्रंप के समर्थक बुधवार को कैपिटोल हिल्स के हर कोने में जमा हो गए और देखते ही देखते भीड़ ने उग्र रूप ले लिया।

एहतिहात के तौर पर सुरक्षा दस्ते ने कैपिटोल हिल्स को सील कर दिया। इसके बाद समर्थकों की भीड़ बेकाबू हो गई और जबरन संसद में घुस गए, जहां दोनों सदनों (हाउस और कांग्रेस) में नए राष्ट्रपति चुनाव के नतीजों पर बहस चल रही थी। थोड़ी देर में ही संसद नतीजों पर मुहर लगने वाली थी कि तभी अचानक सुरक्षा दस्ता संसद में घुस जाता है और सदन के पीठासीन अधिकारी को सुरक्षा घेरे में बाहर निकाला जाता है। इसी दौरान ट्रंप के समर्थकों की भीड़ संसद के अंदर घुस जाती है और इन्हीं में से एक समर्थक उपराष्ट्रपति की कुर्सी पर कब्जा कर लेता है। इसके बाद सुरक्षाकर्मियों को एहतियातन फायरिंग करने पड़ जाती है। फिलहाल इस बावाल में अभी तक चार लोगों के मारे जाने की सूचना है।

इसे भी पढ़ें: रोहिंग्या को लेकर यूपी एटीएस की बड़ी कार्रवाई, इन शहरों में की छापेमारी

 

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें