Taukate Cyclone: 61 लोगों को बचाने का काम जारी, सरकार ने दिए जांच के आदेश

0
168
Barge P-305

मुंबई। तौकते तूफान (taukate cyclone) मुंबई में तबाही मचाकर जा चुका है। इस तबाही में कई ऐसे परिवार है जिन्होंने अपनों को खोया है, तो कई ऐसे हैं जिन्हें अभी भी अपने अपनों के मिलने का इंतजार है। तौकते तूफान के चलते समुंद्र में डूबे बार्ज पी—305 (Barge P-305) से लापता 61 लोगों की तलाश जारी है। वहीं अब तक बचाए गए लोगों ने बार्ज को लेकर बड़ा खुलासा किया है। लोगों का आरोप है कि तूफान आने से पहले कप्तान ने कहा था कि बार्ज पी—305 नहीं डूबेगा और बोट को समुंद्र में लेकर चला गया। वहीं यह भी बात सामने आ रही है कि जब तूफान को लेकर चेतावनी जारी कर दी गई थी तो आखिर जहाज समुंद्र में गई क्यों? इससे पता चलता है कि तूफान तौकते के अर्ल्ट के बीच जिम्मेदारों की तरफ से बड़ी लापरवाही बरती गई। बचाए गए लोगों के इस खुलासे के बाद केंद्र सरकार ने जांच के आदेश दे दिए हैं। बता दें कि बार्ज पी-305 पर मौजूद लोगों में से 26 की मौत हो चुकी है।

बता दें कि बार्ज पी—305 चक्रवात तौकते के चलते मुंबई के तट से कुछ दूर समुंद्र में फंसने के बाद डूब गया था। नौसेना ने बहद खराब मौसम के बीच जूझते हुए जहाज में मौजूद 261 लोगों में से अब तक 186 लोगों को बचा लिया है। इसमें से दो लोगों को टगबोट वारप्रदा से बचाया गया है। वहीं 26 शवों को भी बरामद किया गया है। बार्ज पी-305 पर मौजूद 49 लोग की तलाश अभी भी जारी है। बता दें कि यह जहाज सोमवार को डूब गया था। नौसेना के मुताबिक बार्ज पर 273 लोग मौजूद थे, लेकिन एक अधिकारी ने इसका संचालन करने वाली कंपनी के हवाले से जानकारी दी है कि बार्ज पर 261 लोग सवार थे।

इसे भी पढ़ें: एक जहाज डूबा, 130 लापता, 146 को बचाया

मुंबई पुलिस करेगी जांच

जानकारी मिल रही है कि मुंबई पुलिस अब इस बात की जांच करेगी कि चक्रवात तौकते के बारे में चेतावनी जारी होने के बावजूद बार्ज पी-305 उस क्षेत्र में क्यों रुका था। वहीं दक्षिण मुंबई में येलो गेट पुलिस ने बरामद किए गए शवों के सिलसिले में एक दुर्घटनावश रिपोर्ट दर्ज की है।

इसे भी पढ़ें: कोरोना से मौत के टूटे सारे रिकॉर्ड, 4529 संक्रमितों की हुई मौत

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here