नडाल को फटखानी देकर सिटसिपास से खिताबी मुकाबले के लिये जोकोविच तैयार

0
320

पेरिस। सर्बियाई स्टार नोवाक जोकोविच ने फ्रेंच ओपन टेनिस ग्रैंडस्लैम के फाइनल में प्रवेश कर लिया है। अब रविवार को फाइनल में उनका सामना यूनान के 22 वर्षीय स्टेफानोस सिटसिपास से होगा। जोकोविच ने शुक्रवार देर रात चार से ज्यादा घंटे तक चले सेमीफाइनल में ‘लाल बजरी के बादशाह’ राफेल नडाल को 3-6, 6-3, 7-6 (4), 6-2 शिकस्त दी। वहीं शुक्रवार को ही युवा खिलाड़ी स्टेफानोस सिटसिपास ने भी एलेक्सजैंडर ज्वेरेव को 6-3, 6-3, 4-6, 4-6, 6-3 से पराजित कर फाइनल में प्रवेश किया। वह ऐसा करने वाले यूनान के पहले खिलाड़ी बने। अब रविवार को दोनों दिग्गज खिला​ड़ियों की भिड़ंत होगी। जोकोविच अभी नडाल और रोजर फेडरर (दोनों के 20 ग्रैंडस्लैम खिताब) से दो खिताब पीछे हैं और वह इस अंतर को कम करना चाहेंगे।

अगर जोकोविच इस बार का फ्रेंच ओपन का खिताब जीतते है तो यह उनके करियर का कुल 19वां ग्रैंड स्लैम होगा। इस जीत के साथ जोकोविच नया इतिहास भी रचेंगे। जीत के साथ वे बीते 50 सात में चारों ग्रैंड स्लैम (यूएस ओपन, आस्टे्रलिया ओपन, विंबलडन और फ्रेंच ओपन) दो बार जीतने वाले पहले पुरुष खिलाड़ी बन जायेंगे है।नडाल ने मैच के बाद स्वीकार किया कि टाईब्रेकर के तीसरे सेट में उनके खराब खेल का कारण थकान हो सकता है जिसमें उन्होंने एक डबल फाल्ट की। 35 साल के इस स्पेनिश खिलाड़ी ने कहा, ‘‘गलतियां हो सकती हैं। ’’

उन्होंने कहा, ‘‘लेकिन अगर आप जीतना चाहते हो तो आप ऐसी गलतियां नहीं कर सकते। यही टेनिस है। जो परिस्थितियों के अनुरूप बेहतर ढंग से खेल पाया, वह जीत का हकदार है। इसमें कोई शक नहीं, वह जीत का हकदार था। ’’रोलां गैरां में दोनों के बीच यह मुकाबला शानदार रहा जिसमें जोकोविच ने पहला सेट गंवाने के बाद वापसी की और नडाल की 14वें फ्रेंच ओपन और रिकार्ड 21वें ग्रैंडस्लैम खिताब की उम्मीद तोड़ दी।

नडाल को लाल बजरी पर हराना किसी के लिये आसान नहीं है और इतिहास में केवल दो ही खिलाड़ी हैं जो ऐसा कर पाये हैं जिसमें जोकोविच ऐसा दो बार कर चुके हैं। जोकोविच ने शुक्रवार रात को दोनों के बीच करियर की 58वीं भिड़ंत में 3-6, 6-3, 7-6 (4), 6-2 से जीत दर्ज की। उन्होंने मैच के बाद कहा, ‘‘यह उन रात और मैचों में से एक है जो आपको हमेशा याद रहेंगे। ’’

वहीं जोकोविच ने कहा, निश्चित रूप से रोलां गैरां में मेरे मैचों में सर्वश्रेष्ठ मैच था और मैंने अपने पूरे करियर में जो मैच खेले हैं, उसमें टेनिस के स्तर को देखते हुए, कोर्ट (क्ले कोर्ट) में सफलता हासिल करने वाले मेरे सबसे बड़े प्रतिद्वंद्वी जिसका पिछले 15 से ज्यादा वर्षों से इस पर दबदबा रहा हो, इसे देखते हुए यह शीर्ष तीन मैचों में से एक था। उन्होंने कहा, और माहौल अद्भुत था।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें