पं. बृजलाल द्विवेदी साहित्यिक पत्रकारिता सम्मान से सम्मानित होंगे देवेन्द्र कुमार बहल 

0
161
Devendra Kumar Bahl

नई दिल्ली। मीडिया विमर्श परिवार की तरफ से नई दिल्ली में आयोजित सम्मान समारोह में 13वें पं. बृजलाल द्विवेदी स्मृति अखिल भारतीय साहित्यिक पत्रकारिता सम्मान से साहित्यिक पत्रिका ‘अभिनव इमरोज़’ के संपादक देवेन्द्र कुमार बहल को सम्मानित किया जाएगा। इस मौके पर मुख्य अतिथि के रूप में माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय, भोपाल के पूर्व कुलपति अच्युतानंद मिश्र उपस्थित रहेंगे। सम्मान समारोह में दिल्ली विश्वविद्यालय की प्रो. कुमुद शर्मा मुख्य वक्ता के तौर पर एवं प्रख्यात साहित्यकार गिरीश पंकज एवं दैनिक जागरण के एसोसिएट एडीटर अनंत विजय विशिष्टि अतिथि के रूप में शामिल होंगे। वहीं कार्यक्रम का सीधा प्रसारण मीडिया विमर्श के फेसबुक पेज पर किया जायेगा। समारोह का हिस्सा बनने के लिए आप ऑनलाइन लिंक https://www.facebook.com/mediavimarsh पर क्लिक कर जुड़ सकते हैं।

‘मीडिया विमर्श’ के कार्यकारी संपादक प्रो. संजय द्विवेदी ने जानकारी देते हुए बताया कि यह पुरस्कार प्रतिवर्ष हिंदी की साहित्यिक पत्रकारिता को सम्मानित करने के लिए दिया जाता है। इस अवॉर्ड का इसबार यह 13वां वर्ष है। ‘मीडिया विमर्श’ की तरफ से शुरू किए गए इस अवॉर्ड के तहत ग्यारह हजार रुपए, शॉल, श्रीफल, प्रतीक चिन्ह और सम्मान पत्र देकर सम्मानित किया जाता है। पुरस्कार के निर्णायक मंडल में नवभारत टाइम्स, मुंबई के पूर्व संपादक विश्वनाथ सचदेव, छत्तीसगढ़ ग्रंथ अकादमी, रायपुर के पूर्व निदेशक रमेश नैयर और इंदिरा गांधी कला केंद्र, दिल्ली के सदस्य सचिव डॉ. सच्चिदानंद जोशी शामिल हैं।

इससे पहले यह सम्मान वीणा (इंदौर) के संपादक स्व. श्यामसुंदर व्यास, दस्तावेज (गोरखपुर) के संपादक डॉ. विश्वनाथ प्रसाद तिवारी, अक्सर (जयपुर) के संपादक डॉ. हेतु भारद्वाज, सद्भावना दर्पण (रायपुर) के संपादक गिरीश पंकज, कथादेश (दिल्ली) के संपादक हरिनारायण, व्यंग्य यात्रा (दिल्ली) के संपादक डॉ. प्रेम जनमेजय, कला समय (भोपाल) के संपादक विनय उपाध्याय, संवेद (दिल्ली) के संपादक किशन कालजयी, अक्षरा (भोपाल) के संपादक कैलाशचंद्र पंत, अलाव (दिल्ली) के संपादक रामकुमार कृषक, प्रेरणा (भोपाल) के संपादक अरुण तिवारी और युगतेवर (सुल्तानपुर) के संपादक कमल नयन पाण्डेय को दिया जा चुका है।

इसे भी पढ़ें: टिकैत ने कृषि कानूनों वापसी को लेकर सरकार को दिया अल्टीमेटम

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here