लखनऊ में वापसी करने उतरेगी भारतीय महिला टीम

0
227

लखनऊ। पहले मैच में करारी हार झेलने वाली भारतीय महिला क्रिकेट टीम दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ मंगलवार को अटल बिहारी वाजपेयी अन्तर्राष्ट्रीय इकाना स्टेडियम में होने वाले दूसरे एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच में लय हासिल करके पांच मैचों की श्रृंखला में वापसी करने की कोशिश करेगी।

भारतीय टीम 12 महीने में पहली श्रृंखला खेल रही है और लंबे समय तक बाहर रहने का असर टीम पर साफ दिखा। भले ही कप्तान मिताली राज और उप कप्तान हरमनप्रीत कौर ऐसा नहीं मानती। दक्षिण अफ्रीका की टीम बेहतर तैयारियों के साथ उतरी थी और पहले मैच के प्रदर्शन को देखते हुए उसे आगामी मैचों में हराना आसान नहीं होगा।

मैच के बाद हरमनप्रीत ने माना कि खिलाड़ियों को एक इकाई के तौर पर आपस में घुलने मिलने के लिये थोड़ा समय चाहिए। हरमनप्रीत, मिताली और कुछ हद तक दीप्ति शर्मा को छोड़कर भारत की कोई भी बल्लेबाज अनुकूल परिस्थितियों में अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पायी।

इनमें से अधिकतर ने गलत शॉट चयन के कारण अपने विकेट गंवाये और मैच के बाद हरमनप्रीत ने भी इसे स्वीकार किया।

भारत का मजबूत पक्ष उसके स्पिनरों का माना जाता है लेकिन वे लिजेल ली और 21 वर्षीय लॉरा वोलवार्ट की सलामी जोड़ी को बमुश्किल ही परेशानी में डाल पायी। इन दोनों ने भारत के खिलाफ पहले विकेट के लिये सबसे बड़ी साझेदारी निभायी।

भारत के लिये मिताली का अर्धशतक और अनुभवी तेज गेंदबाज झूलन गोस्वामी की अच्छी गेंदबाजी सकारात्मक पक्ष रहे। ये दोनों खिलाड़ी नवंबर 2019 के बाद अपना पहला मैच खेल रही थी।

हरमनप्रीत ने अपने 100वें वनडे में अच्छी शुरुआत की लेकिन उन्हें इसे बड़े स्कोर में बदलने की जरूरत है। स्मृति मंधाना ने भी तीन आकर्षक चौके लगाये लेकिन इसके बाद ढीला शॉट खेलकर पवेलियन लौटी। ’’

लाइन व लेंथ से गेंदबाजी करनी होगी—मिताली

मिताली राज ने कहा, ‘‘हमारी कुछ बल्लेबाज अच्छी शुरुआत को बड़े स्कोर में नहीं बदल पायी। गेंदबाजों को लाइन व लेंथ से गेंदबाजी करनी होगी। संभवत: लंबे समय बाद खेलने के कारण उन्हें लाइन व लेंथ हासिल करने में परेशानी हुई।’’

तेज गेंदबाज मोनिका पटेल को पहले मैच में पदार्पण का मौका दिया गया। दूसरे मैच में भी कुछ नयी खिलाड़ियों को उतारा जा सकता है क्योंकि टीम प्रबंधन अगले साल होने वाले विश्व कप की तैयारियों पर ध्यान दे रहा है।

दक्षिण अफ्रीका ने गेंदबाजी और बल्लेबाजी दोनों विभागों में शानदार प्रदर्शन किया। शबनीम इस्माइल की अगुवाई में उसका तेज गेंदबाजी विभाग प्रभावशाली नजर आया।

टीमें इस प्रकार हैं :

भारत : मिताली राज (कप्तान), स्मृति मंधाना, जेमिमा रोड्रिग्स, पूनम राउत, प्रिया पूनिया, यास्तिका भाटिया, हरमनप्रीत कौर, डी हेमलता, दीप्ति शर्मा, सुषमा वर्मा (विकेट कीपर), श्वेता वर्मा, राधा यादव, राजेश्वरी गायकवाड़, झूलन गोस्वामी, मानसी जोशी, पूनम यादव, सी प्रत्यूषा, मोनिका पटेल।

दक्षिण अफ्रीका : सुन लुस (कप्तान), अयाबोंगा खाका, शबनीम इस्माइल, लॉरा वोल्वार्ट, त्रिशा चेट्टी, सिनालो जेटा, तस्मीन ब्रिटज़, मारिजाने कैप, नोंडिमिसो सांगेज़, लिज़ेल ली, एनेके बॉश, फेय ट्यूनेक्लिफ़, नॉनकुलुलेको मलाबा, मिगनॉन डु प्रीज, नादिन डी क्लार्क, लारा गुडल, टुमी सेखुखुने।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here