लखनऊ सहित चार जिलों में 50 फीसदी कर्मचारियों के साथ होगा दफ्तरों में काम

0
519
Yogi Adityanath

लखनऊ। प्रदेश में कोरोना के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक अहमद बैठक में टीम 11 को दिशा-निर्देश दिए। इन निर्देशों के तहत लखनऊ, प्रयागराज, वाराणसी और कानपुर नगर में संक्रमण के बढ़ते मामलों पर लगाम लगाने के लिए सीएम ने चार जिलों के सरकारी और प्राइवेट ऑफिस में 50 कर्मचारियों की क्षमता के साथ काम किए जाने का आदेश दिया। उन्होंने अधिकारियों को सर्तकता बरतने में सोशल डिस्टेंसिंग सहित कोविड प्रोटोकॉल का पूरा अनुपालन संग चार जिलों में कार्यालयों में अलग-अलग शिफ्ट में काम करने का आदेश दिए। सीएम ने लखनऊ, प्रयागराज, वाराणसी और कानपुर नगर में सरकारी और गैर सरकारी कार्यालयों में सुविधानुसार वर्क फ्रॉम होम की अनुमति भी देने की बात कही। जिससे संक्रमण के प्रसार पर लगाम लगाई जा सके। उन्होंने कहा कि सभी अधिकारी इस बात को सुनिश्चित करें कि प्रदेश के सभी कार्यालयों में सोशल डिस्टेंसिंग सहित कोविड प्रोटोकॉल का पूरा अनुपालन किया जाए।

नयी रणनीति के लिए संवाद अभियान 11 से

कोरोना के बढ़ते मामलों को ध्यान में रखते हुए नई रणनीति तैयार करने के उद्देश्य से राज्यपाल की मौजूदगी में तीन दिवसीय संवाद का विशेष कार्यक्रम की शुरूआत की जाएगी। जिसके तहत 11 अप्रैल को राजनीतिक दलों से संवाद का कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा। इस बैठक में राजनीतिक दलों के अध्यक्ष, विधानमंडल के दोनों सदनों के सभी पार्टियों के प्रमुख नेता मौजूद रहेंगें। 12 अप्रैल को सभी महापौरों, पार्षदों, चेयरमैन सहित स्थानीय निकायों के प्रतिनिधियों के साथ संवाद का विशेष कार्यक्रम तथा 13 अप्रैल को धर्मगुरुओं के साथ विमर्श होगा।

सीएम ने की जनता से अपील

मुख्यमंत्री ने प्रदेश के लोगों से अपील की है कि वे सोशल डिस्टेसिंग और मास्क का प्रयोग सख्ती के साथ करें। उन्होंने कहाकि कोरोना से निपटने के लिए संकं्रमण की चेन तोडऩा जरूरी है। इसके लिए जागरूकताऔर सावधानी जरूरी है। उन्होंने कहाकि 11 से 13 अप्रैल तक टीका उत्सव मनाया जायेगा इस दौरान लक्षित आयु वर्ग के लोग ज्यादा से ज्यादा टीका लगवायें। टीका के बाद भी सावधानी बरतें। उन्होंनें कहा कि कोरोना से जंग में यूपी सरकार सभी प्रयास कर रही है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें