सीएम योगी ने पश्चिम बंगाल में तेज की हिंदुत्व की धार, ममता पर किया वार

0
316

कोलकाता। पश्चिम बंगाल के चुनाव में यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ममता बनर्जी और तृणमूल कांग्रेस पर जमकर बरसे। योगी आदित्यनाथ ने कहा कि यहां छल और धोखे से लव जिहाद की घटनाओं को भी अंजाम दिया जा रहा है। तुष्टिकरण के चलते यहां की सरकार न तो गोतस्करी को रोक पा रही है और न ही लव जिहाद पर रोक लगा पा रही है। जो सरकार आपको सुरक्षा नहीं दे सकती, उस सरकार को हटाना ही जनता के हित में है। यूपी के सीएम ने कहा, ‘पश्चिम बंगाल हमेशा से भारत में सांस्कृतिक राष्ट्रवाद की धरती रहा है। भारत की आजादी में इस सांस्कृतिक धरा का अहम योगदान था। आज यह बात दुख पहुंचाती है कि यहां अराजकता का माहौल है।’
सीएम योगी आदित्यनाथ ने पश्चिम बंगाल के दिग्गज नेता रहे श्यामा प्रसाद मुखर्जी का भी जिक्र किया। जनसंघ के नेता रहे मुखर्जी के बारे में बताते हुए योगी ने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी ने कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाकर उनके सपने को पूरा करने का काम किया है। इसके साथ ही सीएम योगी ने अयोध्या में बन रहे राम मंदिर का भी जिक्र किया है। सीएम योगी ने कहा, मैं यूपी से आया हूं और मैंने वहां कुछ चीजें इस तरह से की हैं, जिससे बड़ा बदलाव आया है। यूपी में हमने जापानी बुखार को नियंत्रित करने का काम किया है, लेकिन पश्चिम बंगाल की सरकार अज्ञात बीमारी बताकर आंकड़े छिपाने का काम करती है। केंद्र सरकार ने आयुष्मान भारत के नाम से 5 लाख रुपये की स्वास्थ्य बीमा योजना शुरू की है, लेकिन बंगाल के गरीबों को टीएमसी की सरकार इस स्कीम का फायदा नहीं दे रही है। इसी तरह पीएम किसान स्कीम का लाभ यूपी में 2 करोड़ 42 लाख किसानों को मिल रहा है, लेकिन पश्चिम बंगाल का किसान इससे वंचित है।

हिंदुत्व के मुद्दे को धार देते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हम 2017 में यूपी में सत्ता में आए और तुरंत ही स्लॉटर हाउसेज पर रोक लगाई। गोतस्करी और गोहत्या पर तत्काल रोक लगाई थी। पश्चिम बंगाल में भी सरकार बनेगी तो यही होगा। उन्होंने कहा कि यहां जब दुर्गा पूजा और महुर्रम की बात आई तो ममता सरकार ने पूजा पर तो रोक लगा दी, लेकिन मुहर्रम के जुलूसों को अनुमति दी गई। पश्चिम बंगाल में भावनाओं से खिलवाड़ किया जाता है और पूजा पर रोक लगाई जाती है। योगी आदित्यनाथ ने कहा कि आज पश्चिम बंगाल का व्यक्ति रोजगार के लिए यूपी का रुख कर रहा है। इन लोगों की विकास में कोई रुचि नहीं है। यही नहीं ये लोग राष्ट्रीय सुरक्षा से भी संबोधित कर रहे हैं। इस दौरान पीएम नरेंद्र मोदी ने बाबरी ढांचे के विध्वंस में शामिल रहे कोठारी बंधुओं का भी जिक्र किया।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here