IPL 2021: BCCI ने लागू किए ये बड़े नियम, खिलाड़ियों को करना होगा पालन

0
314
ipl
नई दिल्ली। आईपीएल के 14वें सीजन का आगाज 9 अप्रैल से होना है। सभी खिलाड़ी अपनी-अपनी फ्रेंचाइजियों के साथ जुड़ रहे है। पिछला सीजन कोराना महामारी के चलते यूएई में खेला गया था जिसमें कुछ पाबंदियां लगाई गई थी। इस बार भले ही लीग भारत में हो रही है, लेकिन कोरोना की वजह से इसमें कई बदलाव किए जा रहे हैं।
यह भी पढ़ें-IPL 2021 : दिल्ली कैपिटल्स को लगा तगड़ा झटका, चोट के चलते श्रेयस अय्यर IPL से बाहर
परिवार और मालिकान रहेंगे बायो-बबल में
हर फ्रेंचाइजी टीम के खिलाड़ी और उनके परिजनों के साथ-साथ टीम मालिकों को भी बायो-बबल में रहना होगा और बहुत जरूरी होने पर ही वे बायो-बबल से निकल सकते हैं। उन्हें बाहर निकलने के लिए बीसीसीआई के मुख्य चिकित्सा अधिकारी से अनुमति लेनी होगी। बीसीसीआई के शीर्ष अधिकारी किसी भी बायो-बबल में प्रवेश नहीं करेंगे जिसके चलते वे किसी भी खिलाड़ी से नहीं मिलेंगे। बायो-बबल में प्रवेश करने से पहले तीन आरटी-पीसीआर टेस्ट जरूरी होंगे। रिपोर्ट नेगेटिव आने पर ही प्रवेश करने की अनुमति होगी।
होटल में टीम एरिया को किया जाएगा सील
खिलाड़ियों की सुरक्षा के लिए बीसीसीआई ने अहम कदम उठाया है। बीसीसीआई ने कहा कि टीमों को अपने दल के लिए पूरे होटल को बुक करना होगा, यदि यह संभव न हो तो होटल का एक पूरा विंग टीम के लिए आरक्षित होगा और उन लोगों के लिए बंद कर दिया जाएगा जो दल का हिस्सा नहीं हैं। यह बाहर के लोगों के साथ संपर्क के किसी भी अवसर को रोक देगा।
नजर रखेंगे “बबल इंटीग्रिटी मैनेजर्स”
बायो-बबल का बेहद कड़ाई से पालन करने के लिए हर टीम के लिए “बबल इंटीग्रिटी मैनेजर्स” की चार सदस्यीय टीम बनाई जाएगी। इस टीम की जिम्मेदारी होगी कि वह यह ध्यान रखे कि खिलाड़ी और सहयोगी स्टाफ कड़े नियमों का पालन कर रहें हैं या नहीं। किसी भी प्रोटोकॉल का उल्लंघन होने पर टीम मैनेजमेंट तत्काल अधिकारियों को सूचित करेगी।
क्वारंटाइन खर्चा खुद निकालेंगे खिलाड़ी
आईपीएल अधिकारियों ने यह भी निर्णय लिया है कि वे खिलाड़ी जो इंग्लैंड, यूरोप, दक्षिण अफ्रीका, ब्राजील और मध्य पूर्व से आ रहे हैं, उन्हें सात दिनों के लिए क्वारंटाइन होना पड़ेगा। क्वारंटाइन पीरियड का खर्चा खिलाड़ी स्वयं उठायेंगे।
मैदान के बाहर गेंद जाने पर बदली जाएगी गेंद
जब भी कोई गेंद मैदान के बाहर जायेगी तो उसे तत्काल बदल दिया जायेगा। ऐसा कोराना प्रोटोकाल के चलते किया जायेगा। हालांकि गेंद को सैनेटाइज कर दोबारा वापस उपयोग में लाया जा सकेगा।
बबल टू बबल की सुविधा
खिलाड़ियों पर क्वारंटाइन का भार कम से कम हो इसके लिए बीसीसीआई ने भारत और इंग्लैंड सीरीज में हिस्सा ले रहे उन खिलाड़ियों को सीधे आईपीएल बायो-बबल में आने की अनुमति दे दी है जो फिलहाल बायो-बबल में हैं।
ई-पास होगा जारी
चेन्नई पहुंचने वाले खिलाड़ियों को एक विशेष ई-पास लेना होगा। यह ई-पास तमिलनाडु सरकार द्वारा जारी किया जायेगा। इन बदलावों के अलावा इस बार कुछ और बदलाव भी किये गये है जैसे कि इस बार फाइनल समेत सभी 60 मैच 6 शहरों में ही खेले जाएंगे। इसमें अहमदाबाद, बेंगलुरु, चेन्नई, दिल्ली, मुंबई और कोलकाता शामिल हैं। एक बड़े बदलाव के तहत सारे मैच तटस्थ स्थानों पर करने का फैसला किया गया है यानि कोई भी टीम अपने घर में मैच नहीं खेलेगी। यानी कि कोलकाता का मैच कोलकाता और मुंबई का मैच मुंबई में नहीं होगा।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here