रूट का धांसू शतक, इंग्लैंड मजबूत

0
119
j Root
j Root with Sibley

चेन्नई। भारत और इंग्लैंड के बीच सीरीज का पहला टेस्ट चेन्नई के चिन्नास्वामी स्टेडियम में खेला जा रहा है। इंग्लैंड के कप्तान जो रूट ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया है। कप्तान जो रूट और ओपनर डोमिनिक सिबली के दम पर इंग्लैंड ने भारत के खिलाफ पहले टेस्ट मैच के पहले दिन 3 विकेट पर 263 रन बनाए। रूट ने अपने 100वें टेस्ट मैच में शतक लगाया और सिबली के साथ 200 रन की पार्टनरशिप की। रूट ने 197 गेंदों पर 14 चौके और एक छक्का की मदद से 128 रनों की नाबाद पारी खेली । सिबली दिन के अंतिम ओवर (90वें ओवर) की तीसरी गेंद पर जस्प्रीत बुमराह का शिकार बने। उन्होंने 286 गेंदों का सामना किया और 12 चौकों की मदद से 87 रन बनाए। सिबली ने जहां अपनी पारी में संयम का पूरा प्रदर्शन किया, वहीं रूट ने कुछ आकर्षक शॉट्स लगाए। तेज गेंदबाज ईशांत शर्मा, जसप्रीत बुमराह और स्पिनर रविचंद्रन अश्विन, शाहबाज नदीम और वॉशिंगटन सुंदर ने हर कोशिश की लेकिन रूट को आउट नहीं कर सके।

इससे पहले सलामी बल्लेबाज रोरी बर्न्स और सिबली ने पहले विकेट के लिए 63 रन जोडक़र इंग्लैंड को मजबूत शुरुआत दी। दोनों बड़ी साझेदारी की ओर बढ़ रहे थे लेकिन बर्न्स ने अश्विन की गेंद पर गैर जरूरी रिवर्स स्वीप शॉट खेलने के चक्कर में अपना विकेट गंवाया। विकेटकीपर ऋषभ पंत ने उनका आसान कैच लपका। नए बल्लेबाज डैन लॉरेंस को बुमराह ने पगबाधा आउट किया। भारतीय कप्तान विराट कोहली ने आठवें ही ओवर में अश्विन को गेंद सौंप दी। सलामी बल्लेबाज सिब्ले और बर्न्स ने पहले घंटे संभलकर खेला। ईशांत और भारत में पहला टेस्ट खेल रहे बुमराह को उन्होंने समझदारी के साथ खेला और भारत को शुरुआती सफलता जल्दी नहीं लेने दी। इससे पहले इंग्लैंड के कप्तान जो रूट ने टॉस जीतकर बल्लेबाजी का फैसला किया। श्रीलंका दौरे से बाहर रहे बेन स्टोक्स , जोफ्रा आर्चर और रोरी बर्न्स ने टीम में वापसी की। विराट कोहली पैटरनिटी लीव के बाद टीम में लौटे।

पहली बार बार बुमराह और एसजी गेंद
बुमराह ने अभी तक जिन देशों में टेस्ट मैच खेले हैं वहां कूकाबूरा या ड्यूक गेंदों का इस्तेमाल होता है, लेकिन भारत में एसजी गेंद का इस्तेमाल होता है। इस तरह बुमराह पहली बार टेस्ट मैच में एसजी गेंद से गेंदबाजी करेंगे। एसजी गेंद की सीम काफी उभरी हुई होती है। यह गेंदें भारत में ही बनाई जाती हैं और इनका प्रयोग टेस्ट मैच में किया जाता है। भारतीय परिस्थितियों में 10-20 ओवर तक ही एसजी गेंद से स्विंग मिलती है और यह अपनी चमक खो देती है। हालांकि, इसकी सीम 80-90 ओवरों तक ही रहती है, जिससे रिवर्स स्विंग करना आसान होता है और स्पिनरों को ग्रिप बनाने में मदद मिलती है। हालांकि, सभी एसजी गेंदों के आकार में थोड़ा-थोड़ा अंतर होता है।

गाबा के हीरो नहीं किए गए शामिल
चेपक स्टेडियम में खेले जा रहे इस टेस्ट में भारत 3 स्पिनर्स के साथ उतरा। इसमें रविचंद्रन अश्विन, वॉशिंगटन सुंदर और शाहबाज नदीम शामिल रहे। जबकि, इशांत शर्मा की चोट के बाद टीम इंडिया में वापसी हुई। टॉस से पहले ही टीम इंडिया को झटका लगा। ऑलराउंडर अक्षर पटेल घुटने में चोट की वजह से पहले टेस्ट से बाहर हो गए। गाबा टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ जीत हासिल करने वाली टीम के 4 खिलाड़ी इस टेस्ट से बाहर हैं। ये खिलाड़ी शार्दूल ठाकुर, मोहम्मद सिराज, मयंक अग्रवाल और टी. नटराजन हैं।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here