यूपी में कैलेंडर से खेल करने की तैयारी में कांग्रेस, जानें क्या है रणनीति

0
90
प्रियंका गांधी वाड्रा

लखनऊ। नए साल पर कांग्रेस पार्टी की महासचिव प्रियंका गांधी की तरफ से भेजे गए कैलेंडर को हर गांव और शहर में पहुंचाने में जुट गई है। कांग्रेस खासतौर पर यूपी में खुद को मजबूत करने की पूरी कोशिश में जुट गई है। यहां न्याय पंचायत अध्यक्षों और ब्लॉक कांग्रेस कमेटी के गठन की प्रक्रिया काफी तेजी से चल रही है। इसी कड़ी में कांग्रेस के पदाधिकारी 3 जनवरी से अपने प्रभार वाले जिलों के प्रवास पर हैं। पार्टी सूत्रों की मानें तो अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की महासचिव प्रियंका गांधी ने बंटवाने के लिए यूपी में 10 लाख कैलेंडर भेजा है। पार्टी पदाधिकारियों को प्रदेश के हर शहर के सभी वार्डों और गांवों में कैलेंडर वितरित करने का निर्देश दिया गया है। गांव और शहरों में आबादी के हिसाब से कैलेंडर पहुंचाए जा रहे हैं।

गौरतलब है कि कांग्रेस के इस कैलेंडर में बड़ा संदेश छिपा हुआ है। इन कैलेंडरों में यूपी की प्रभारी राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के जनसंपर्को और संघर्षों की तस्वीरें छापी गई हैं। 12 पेज के नववर्ष के इस कैलेंडर में पहले पेज पर सोनभद्र के उभ्भा की घटना के बाद पीड़ित पक्ष से मिलने सोनभद्र पहुंची प्रियंका गांधी की तस्वीर छापी गई है। वहीं हाथरस में पीड़िता की मां से गले लगते प्रियंका की तस्वीर छपी है। हाथरस जाते समय रास्ते में झड़प के दौरान पुलिस की लाठी से कार्यकर्ताओं को बचाते हुए कांग्रेस महासचिव की तस्वीर भी इस कैलेंडर में छापी गई है।

सीएए और एनआरसी के खिलाफ आजमगढ़ में सड़क पर प्रदर्शन करते वक्त की तस्वीर भी कैलेंडर में है। इस फोटो में प्रियंका गांधी वाड्रा एक बच्ची की आंसू पोछ रही हैं। इतना ही नहीं कांग्रेस के इस कैलेंडर में अमेठी, रायबरेली, हरियाणा, झारखंड समेत यूपी में प्रियंका गांधी वाड्रा की तरु से किए गए जन संपर्क अभियानों की फोटो को छापी गई है। बताते चलें कि प्रियंका गांधी उत्तर प्रदेश को लेकर काफी दिनों से कड़ी मेहनत कर रही हैं। वह उत्तर प्रदेश में कांग्रेस की खोई हुई जमीन को तलाशने में लगी हुई हैं। ऐसे में नए साल पर कांग्रेस ने कैलेंडर के माध्यम लोगों में पैठ बनाने की मजबूत चाल चली है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here