चुनाव से पहले अखिलेश को सताया यह डर, चुनाव आयोग को दी चेतावनी

0
108
Akhilesh Yadav

लखनऊ: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव (UP Assembly Elections) से पहले सपा (Samajwadi Party) अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने चुनाव आयोग (Election Commission) को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) पर हमला बोला है। उन्होंने सस्ती बिजली के सवाल पर कहा कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) जिन्हें पावर प्लांट का नाम तक नहीं पता वह सस्ती बिजली क्या देंगे।

उन्होंने मतदाता सूची में जोड़े गए नामों का हवाला देते हुए कहा कि इस बार मतदाता सूची में 21 लाख 56 हजार 262 नए नाम जोड़े गए हैं। जबकि 16 लाख 42 हजार 756 नामों को हटाया गया है। जिन नामों को जोड़ा व हटाया गया है, उनकी सूची जारी की जाती है। लेकिन चुनाव आयोग (Election Commission) ने पता नहीं किस दबाव में आकर इस बार सूची को जारी ही नहीं किया है। साथ ही उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि चुनाव आयोग ने अगर जल्द जोड़े और काटे गए नामों की सूची नहीं जारी करता है तो हम चुनाव आयोग के खिलाफ धरना प्रदर्शन करेंगे। हर चुनाव में मतदाता सूची में जोड़े और काटे गए नामों की सूची जारी की जाती है, लेकिन इस बार सूची नहीं दी जा रही है।

इसे भी पढ़ें: Lakhimpur kheeree Violence: आशीष मिश्र की राइफल से चली थी गोली

पूर्व मुख्यमंत्री ने सवाल उठाते हुए कहा कि राजनीतिक दलों को इस बार सूची क्यों नहीं दी जा रही है। आखिर ऐसा क्या कारण है। सपा अध्यक्ष ने कहा कि इसके लिए उन्हें अगर चुनाव आयोग के खिलाफ धरने पर बैठना पड़ा तो वह चुनाव आयोग के बाहर धरने पर भी बैठेंगे। इसके साथ ही उन्होंने चुनाव आयोग (Election Commission) की निष्पक्षता पर भी प्रश्नचिन्ह लगाते हुए कहा कि इस बार दिल्ली चुनाव आयोग (Election Commission) में जितने भी अधिकारी गए हैं, वे सभी यूपी के ही हैं और यूपी में चुनाव (UP Assembly Elections) भी होना है। उन्होंने कहा कि हमें उम्मीद है कि चुनाव आयोग (Election Commission) निष्पक्षता से अपना काम करेगा। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि हमें मतदाता सूची में जोड़े और काटे गए नामों की सूची क्यों नहीं दी जा रही है। इसके साथ ही उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) की जानकारी को लेकर करारा प्रहार किया।

इसे भी पढ़ें: महिला मित्र के साथ होटल में मिला इंस्पेक्टर

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here