चीनी प्रभाव से मुकाबले के लिए अमेरिका ने कसी कमर

0
517

सिंगापुर। अमेरिका की उपराष्ट्रपति कमला हैरिस सिंगापुर की राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री के साथ मुलाकात कर दक्षिणपूर्व एशिया की यात्रा की शुरुआत कर दी है। इस यात्रा का उद्देश्य क्षेत्र में प्रमुख सहयोगियों के साथ संबंधों को मजबूत करने का है जो अफगानिस्तान से अमेरिकी बलों की अफरा-तफरी भरी वापसी से जटिल हो गया है। अमेरिका की उपराष्ट्रपति कमला हैरिस सिंगापुर के बाद वियतनाम जाएंगी। इस यात्रा का उद्देश्य क्षेत्र में चीन के बढ़ते प्रभाव का मुकाबला करने के लिए सिंगापुर और वियतनाम के साथ सहयोग बढ़ाना है। अमेरिका की उपराष्ट्रपति इस दौरान आर्थिक तथा सुरक्षा संबंधी मुद्दों पर तो ध्यान देंगी इसके साथ-साथ वे कोविड-19 से निपटने के प्रयासों पर भी बात कर सकती हैं।

हैरिस ने राष्ट्रपति भवन, इस्ताना के बाहर एक स्वागत समारोह में हिस्सा लिया। वहां वह अपने दिल पर हाथ रखे नजर आईं और इस दौरान मार्चिंग बैंड ने अमेरिकी राष्ट्रगान ‘स्टार स्पैंगल्ड बैनर’ बजाया। इसके बाद उन्होंने सिंगापुर के प्रधानमंत्री ली सीन लूंग के साथ, बैंड का निरीक्षण किया। इस दौरान लूंग ने उन्हें ‘आर्किड’ फूल की एक प्रजाति दिखाई, जिसका नामकरण उनके नाम पर किया गया है। प्रधानमंत्री के साथ द्विपक्षीय बैठकों की एक श्रृंखला शुरू करने से पहले उपराष्ट्रपति ने सिंगापुर की राष्ट्रपति हलीमा याकूब से भी एक संक्षिप्त शिष्टाचार भेंट की।

उपराष्ट्रपति मुलाकात के बाद एक संयुक्त संवाददाता सम्मेलन भी करेंगी। इसके बाद वह ‘चांगी नौसेना अड्डा’ जाएंगी, जहां वह एक लड़ाकू जहाज ‘यूएसएस टुल्सा’ पर सवार अमेरिकी नाविकों से बातचीत करेंगी। हैरिस मंगलवार को अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन के प्रशासन के दृष्टिकोण को रेखांकित करते हुए एक भाषण देंगी और आपूर्ति श्रृंखला के मुद्दों पर चर्चा करने के लिए व्यापार जगत के लोगों से मिलेंगी। यह हैरिस की दूसरी विदेश यात्रा है। जून में वह ग्वाटेमाला और मैक्सिको की यात्रा पर गईं थी। यह पहली बार होगा जब कोई अमेरिकी उपराष्ट्रपति वियतनाम की यात्रा पर जाएगा।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here