ब्राह्मण लड़कों को नहीं मिल रही शादी के लिए लड़की, यूपी और बिहार में हो रही तलाश

0
295
Brahmin boys marriage

चेन्नई: लड़का और लड़की की आबादी के बीच का अंतर आने वाले समय में सामंजय बिगाड़ सकता है, ऐसा अनुमान है। देश का तमिलनाडू इस समय ब्राह्मणों की शादी को लेकर चर्चा में आ गया है। राज्य में करीब 40,000 अधिक तमिल ब्राह्मण युवाओं को शादी के लिए लड़की ही नहीं मिल पा रही है। इसके लिए तमिलनाडु स्थित ब्राह्मण संघ ने उत्तर प्रदेश और बिहार में सजातीय दुल्हन की तलाश के लिए अभियान शुरू कर दिया है। थमिजनाडु ब्राह्मण एसोसिएशन (थंब्रास) के अध्यक्ष एन. नारायणन ने इस बारे में एसोसिएशन की मासिक पत्रिका के जरिए यह जानकारी दी है। तमिल पत्रिका के नवंबर अंक में प्रकाशित एक खुले पत्र में कहा गया है कि हमने अपने संगम की तरफ से एक विशेष आंदोलन की शुरुआत की है। एक अनुमान का हवाला देते हुए नारायणन ने कहा है कि 30-40 उम्र के 40 हजार से अधिक तमिल ब्राह्मणों की शादी नहीं हो पाई, क्योंकि तमिलनाडु के अंदर इन्हें दुल्हन ही नहीं मिल पाई।

एक अनुमानित आंकड़ा बताते हुए उन्होंने कहा कि तमिलनाडु में विवाह योग्य 10 ब्राह्मण लड़कों पर उस आयु वर्ग में केवल छह लड़कियां ही मौजूद हैं। एसोसिएशन के प्रमुख ने पत्र में कहा है कि इस मुहिम को आगे बढ़ाने के लिए दिल्ली, लखनऊ, और पटना में समन्वयकों की नियुक्ति भी की जाएगी। उन्होंने कहा कि हिंदी के जानकार, जिसे हिंदी बोलने, लिखने और पढ़ने में कोई दिक्कत न हो उसे एसोसिएशन के मुख्यालय में समन्वय की तौर पर नियुक्त किया जाएगा। वहीं एन. नारायणन ने एक समाचार एजेंसी को जानकारी देते हुए बताया कि एसोसिएशन लखनऊ और पटना के लोगों के संपर्क में है और इस पर तेजी से अमल करने पर काम चल रहा है।

इसे भी पढ़ें: व्यापारी के बेटे को पुलिस ने किया बरामद

उन्होंने कहा कि इस संबंध में उन्होंने काम शुरू कर दिया है। कई ब्राह्मण परिवारों ने उनके इस कदम का स्वागत भी किया है। इसको लेकर समुदाय के अंदर से अलग विचार भी उभर कर आ रहे हैं। उधर शिक्षाविद् एम परमेश्वरन का कहना है कि विवाह योग्य आयु वर्ग के पर्याप्त संख्या में तमिल कन्याओं के अभाव के चलते यहां के ब्राह्मण लड़कों को दुल्हन नहीं मिल पा रही है, यह बड़ा कारण है। उन्होंने भावी दूल्हों के माता-पिता की तरफ से शादियों में धूमधाम और दिखावे पर आश्चर्य भी व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि कई ब्राह्मण परिवार हैं जो लड़कियों की शदी का खर्च उठा पाने में अक्षम हैं।

इसे भी पढ़ें: aaj ka raashiphal: वृश्चिक राशिवालों को रहना होगा सतर्क

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here