सरस्वती विद्या मंदिर वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में कम्प्यूटर प्रयोगशाला का उद्घाटन

0
74
Vidya Bharati

लखनऊ: सम्पूर्ण विश्व में 1.4 करोड़ जीव प्रजातियां पायी जाती हैं और सनातन धर्म के अनुसार कुल 84 लाख योनियां होती हैं। इनमें से मानव जाति को सर्वश्रेष्ठ माना गया है, क्योंकि उसमें बुद्धि का विकास करने क्षमता होती है। आज के आधुनिक युग में तकनीक के माध्यम से नवीनतम जानकारी हासिल कर अपने जीवन में सही उपयोग करके श्रेष्ठ नागरिक बन सकते हैं। उक्त बातें विद्या भारती अखिल भारतीय शिक्षण संस्थान के राष्ट्रीय मंत्री शिवकुमार ने मंगलवार को लखनऊ के अलीगंज सेक्टर क्यू स्थित सरस्वती विद्या मंदिर वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में कहीं। वह विद्यालय में नवनिर्मित कंप्यूटर प्रयोगशाला के लोकार्पण पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे।

मुख्य अतिथि शिवकुमार ने कहा कि तकनीक के माध्यम से सम्पूर्ण जाति के बौद्धिक विकास में क्रांतिकारी बदलाव देखने को मिले। यदि हमारे पास कोई साधन उपलब्ध है तो उसका पूर्ण लाभ उठाने का हमें प्रयास अवश्य करना चाहिए। उन्होंने कहा कि तकनीक के माध्यम से शिक्षा संबंधी विषयों के अतिरिक्त कुछ नया सीखने का प्रयास अवश्य करना चाहिए। उन्होंने कहा कि ज्ञान को प्राप्त करके उसका पूर्ण पालन करने वाला व्यक्ति कभी असफल नहीं होता है, उसके लिए हर कार्य संभव है। उन्होंने भैया-बहनों को जंक फूड से होने वाले स्वास्थ हानि के बारे में विस्तार से समझाया और जंकफूड न खाने की सलाह दी। इसके साथ ही उन्होंने यातायात नियमों का पालन करने की सलाह दी।

Vidya Bharati

विशिष्ट अतिथि विद्या भारती पूर्वी उत्तर प्रदेश के क्षेत्रीय संगठन मंत्री हेमचन्द्र ने भैया-बहनों से ‘विज्ञान एक वरदान या अभिशाप’ विषय पर चर्चा की। उन्होंने कहा कि तकनीक हमारे लिए वरदान और अभिशाप दोनों बन सकती है। यदि हम उसका सही से उपयोग करते हैं तो वह हमारे लिए वरदान है और इसका दुरुपयोग करेंगे तो हमारे लिए अभिशाप है। उन्होंने कहा कि हमें तकनीक (कंप्यूटर) का प्रयोग संस्कार और अनुशासन के अंतर्गत ही करना चाहिए।

इसे भी पढ़ें: आतंक के सफाए के लिए बनी SIA नई सुरक्षा एजेंसी

इससे पहले अतिथियों ने दीप प्रज्ज्वलित और वंदना के साथ कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया। इसके बाद आए हुए अतिथियों ने आधुनिक कंप्यूटर लैब का उद्घाटन किया। विद्यालय के प्रधानाचार्य राजेंद्र सिंह ने अतिथियों का परिचय कराया। साथ ही अतिथियों को अंगवस्त्र, श्रीफल और सुंदर चित्र भेंटकर सम्मानित किया गया। इस अवसर पर भैया-बहनों ने विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत कर सभी का मन मोह लिया। इसके बाद अतिथियों द्वारा विद्यालय परिसर में पौधरोपण किया गया।

Vidya Bharati

कार्यक्रम का संचालन विद्यालय की छात्रा बहनों ने किया। कार्यक्रम के अंत में विद्यालय समिति के अध्यक्ष व केजीएमयू के चिकित्सक डॉ. आरके गर्ग ने आए हुए अतिथियों के प्रति आभार व्यक्त किया। इस अवसर पर भारतीय शिक्षा समिति के मंत्री हरेन्द्र श्रीवास्तव, विद्या भारती पूर्वी उत्तर प्रदेश के बालिका शिक्षा प्रमुख उमाशंकर, प्रशिक्षण प्रमुख दिनेश सिंह, क्षेत्रीय प्रचार प्रमुख सौरभ मिश्रा, अवध प्रांत के प्रदेश निरीक्षक राजेंद्र बाबू, डॉ. राघवेंद्र, डॉ. शैलेश मिश्र, रामतीर्थ वर्मा, नीरज शुक्ला, अवधेश, सुधा तिवारी, रामसागर तिवारी, मिथलेश तिवारी, शांतस्वरूप, बाबूलाल शर्मा, डॉ. रेनू, डॉ. सुचिता और समस्त विद्यालय परिवार उपस्थित रहे।

इसे भी पढ़ें: बेसिक बाल क्रीड़ा प्रतियोगिता में छात्रों का हुनर

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here