मंदिर तोड़े जाने की घटना पर मोदी सरकार सख्त, पाक राजनयिक को किया तलब

0
493
pm modi

नई दिल्ली: भारत में बैठे कुछ लोग भले ही पाकिस्तान को पड़ोसी मुल्क बतातें हुए उसकी तरफदारी करते हों लेकिन पाक ऐसी कोई न कोई नापाक हरकत कर ही देता है, जिससे उसकी मानसिकता सामने आ ही जाती है। पाकिस्तान में हिंदुओं के साथ कैसा बर्ताव किया जा रहा है, यह किसी से छिपा नहीं है। यहां हिंदुओं के धर्म से लेकर बहू-बेटियों की इज्जत तक सुरक्षित नहीं हैं। नाम मात्र के बचे मंदिरों को भी ध्वस्त किया जा रहा है। गत महीनों मंदिर तोड़े जाने की घटना का मामला ठंडा होते ही अब ताजा मामला पाकिस्तान के पंजाब प्रांत से सामने आया है। यहां मुस्लिमों की भीड़ ने एक मंदिर पर हमला बोलकर यहां स्थापित मूर्तियों को तोड़फोड़ डाला है। इस घटना पर नरेंद्र मोदी सरकार ने कड़ी नाराजगी जाहिर की है। मामले में भारत सख्त कदम उठाते हुए पाकिस्तान कमे शीर्ष राजनयिक को तलब किया है।

बता दें कि उपद्रवियों की भीड़ के सामने पुलिस मूक दर्शक बनी रही। हालांकि पाकिस्तान पुलिस का हिंदुओं पर हो रहे अत्याचार के प्रति हमेशा से यही रुख रहा है। यही वजह है कि हिंदू परिवारों की बहू-बेटियों को जबरन उठा लिया जाता है और आरोपियों के खिलाफ मुकदमा तक दर्ज नहीं होता। मंदिर तोड़े जाने की घटना 4 अगस्त की है। बुधवार देर रात पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में कट्टरपंथियों की भीड़ ने एक हिंदू मंदिर पर हमला बोल दिया। उपद्रवियों की भीड़ ने मंदिर में लगी देवी-देवताओं की प्रतिमाओं को तोड़फोड़ डाला। इस दौरान इसका विरोध करने वालों के साथ इन लोगों ने मारपीट भी की।

इसे भी पढ़ें: जुलूस निकालने की अनुमति नहीं, गाइडलाइंस जारी

इस घटना का विरोध भारत में भी हो रहा है। सोशल मीडिया के जरिए लोग पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के खिलाफ अपनी भड़ास निकाल रहे हैं। वहीं भारत सरकार ने इस घटना को लेकर दिल्ली में पाकिस्तान के शीर्ष राजनयिक को तलब करते हुए मंदिर तोड़े जाने का कड़ा विरोध दर्ज कराया है।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने कहा कि भारत की तरफ से पाकिस्तान में अल्पसंख्यक समुदायों की धार्मिक स्वतंत्रता पर हो रहे निरंतर हमलों को लेकर अपनी चिंताओं से पाकिस्तानी राजनयिक को अवगत कराया है। उन्होंने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि गुरुवार को यहां पाकिस्तानी उच्चायोग के प्रभारी को तलब किया गया और पाक में हुई इस निंदनीय घटना को लेकर गंभीर चिंता जाहिर करते हुए कड़ा विरोध दर्ज कराया गया।

गौरतलब है कि पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में मुस्लिम कट्टरपंथियों की भीड़ ने मंदिर पर धावा बोल दिया। उपद्रवियों की भीड़ इतनी ज्यादा थी कि पुलिस भी मूकदर्शक बनी रही और अंत में हालात काबू करने के लिए पाकिस्तानी रेंजर्स को बुलाना पड़ा। पाकिस्तान पुलिस के मुताबिक मुस्लिमों की भीड़ ने 4 अगस्त को रहीम यार खान जिले के भेंग शहर स्थित एक मंदिर पर हमला कर तोड़फोड़ किया है। यह स्थान लाहौर से करीब 590 किलोमीटर दूरी पर है।

इसे भी पढ़ें: कोरोना से फिर बिगड़े हालात, संक्रमण की चपेट में 15 शहर

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें