बारिश की भेंट चढ़ा नॉटिंघम टेस्ट, रुट ने बतायी इंग्लैण्ड की कमी

0
352

नॉटिंघम। भारत और इंग्लैंड के बीच नॉटिंघम खेला जा रहा पहला टेस्ट मुकाबला बिना किसी नतीजे के ड्रॉ हो गया। मैच के पांचवें व अन्तिम दिन सुबह से ही हो रही बारिश में कोई ढील नहीं आई, आखिरी दिन एक दिन भी नहीं गेंद फेंकी गई, बारिश के कारण दो सेशन का खेल पूरी तरह से धुल गया था। स्थिति में सुधार न होता देख अंपायरों ने तीसरे सेशन का खेल भी रद्द करने का फैसला किया और इसके साथ ही मैच ड्रॉ पर खत्म हुआ। मैच के अंतिम दिन भारत को जीत के लिए 157 रन चाहिए थे और उसके पास 9 विकेट थे, लेकिन आखिरी दिन एक भी गेंद नहीं डाली जा सकी। इसके साथ ही पांच मैचों की सीरीज की शुरुआत 0-0 से हुई और दोनों टीमें अब 12 अगस्त से लॉर्ड्स में होने वाले दूसरे टेस्ट में टकराएंगी। बता दें कि विश्व टेस्ट चैंपियनशिप 2021-23 का यह पहला मुकाबला था जो ड्रॉ रहा।

दरअसल, पांचवें दिन भारत को 52/1 से आगे खेलना था। रोहित शर्मा 12 और चेतेश्वर पुजारा 12 रन बनाकर नाबाद थे। यहां से अब भारत को इस मैच को जीतने के लिए 157 रन की दरकार थी जबकि उसके हाथ में अभी नौ विकेट शेष थे। बता दें कि जसप्रीत बुमराह (5 विकेट) के दम पर भारत ने दूसरी पारी में इंग्लैंड को 303 रन पर ऑलआउट कर दिया था। वहीं इंग्लैंड की तरफ से कप्तान जो रूट ने सबसे ज्यादा 109 रन बनाए। भारत के लिए जसप्रीत बुमराह ने 64 रन देकर 5 विकेट लिए। मोहम्मद सिराज और शार्दूल ठाकुर ने 2-2 और मोहम्मद शमी ने 1 विकेट लिया। इससे पहले इंग्लैंड की पहली पारी मजह 183 रन पर सिमट गई थी। जवाब में भारत ने अपनी पहली में 278 रन बनाए। पहली पारी के आधार पर भारत को 95 रन की बढ़त मिली थी।

मेरे लिए बुमराह मैन ऑफ द मैच हैं

पूर्व क्रिकेटर आकाश चोपड़ा ने दिग्गज तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह को लेकर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि इंग्लैंड के खिलाफ नॉटिंघम टेस्ट मैच में वो जसप्रीत बुमराह को प्लेयर ऑफ द मैच चुनेंगे। आकाश चोपड़ा के मुताबिक उनके लिए बुमराह ही मैन ऑफ द मैच हैं। जसप्रीत बुमराह ने इंग्लैंड के खिलाफ नॉटिंघम टेस्ट मैच में जबरदस्त गेंदबाजी की। उन्होंने कुल मिलाकर 9 विकेट चटकाए। पहली पारी में उन्होंने 4 तो दूसरी पारी में 5 विकेट चटका दिए। बुमराह का फॉर्म में आना टीम के लिए काफी अच्छा संकेत है।

कप्तान जो रूट ने बताई इंग्लैंड की कमी इंग्लैंड के कप्तान जो रूट

ने यहां पहले टेस्ट के दौरान अपनी टीम के कैच छूटने और रन आउट के मौके गंवाने पर दुख जताया। रूट ने मैच के बाद कहा कि अगर हम मैदान पर अच्छा होते तो 1-0 से आगे होते। रूट ने कहा, अगर हम मैदान में काफी अच्छे होते तो हम आगे होते लेकिन दुर्भाग्य से मौसम जीत गया। उन्होंने कहा, “कुछ विभाग हैं, जहां हमें अच्छा करने की जरूरत है। हमें शीर्ष क्रम में बेहतर करना है और कैच पकड़ने हैं। हमें मजबूत खिलाड़ी की जरूरत है। अनुभवी खिलाड़ी सफेद गेंद से टेस्ट क्रिकेट में आसानी से ढ़ल जाते हैं लेकिन युवा खिलाड़ियों के पास इसका अनुभव नहीं होता। हमारे युवा खिलाड़ियों के लिए यह चुनौतीपूर्ण है। रूट ने कहा, “शतक बनाने से मैंने राहत की सांस ली है। मेरे ख्याल से भारत के पास बेहतर तेज गेंदबाजी आक्रमण है और जिस तरह इन्होंने गेंदबाजी की इसका श्रेय इन्हें मिलना चाहिए। मैं बस कुछ शॉट्स लगाकर दबाव बनाना चाहता था।”

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here