शादीशुदा महिला को अगवा कर 4 दोस्तों ने नौ दिनों तक किया गैंगरेप

0
525
rape

नई दिल्ली: महिला सुरक्षा को लेकर चाहे जितने दावे कर लिए जाएं पर सच यही है कि महिलाएं कहीं भी सुरक्षित नहीं हैं। घर से लेकर बाहर तक कुछ ऐसे तत्व हैं तो महिलाओं को अपनी हवश का शिकार बनाने के लिए घात लगाई इंतजार करते रहते हैं। गुरुग्राम में इसी तरह का मामला सामने आया है, जहां एक शादीशुदा महिला को उसके परिचित ने धोखे से बुलाकर अगुवा कर लिया और अपने तीन और दोस्तों के साथ मिलकर नौ दिनों तक उसके साथ गैंगरेप किया। ये चारों दोस्त महिला को एक कमरे में बंधक बनाकर उसको नशीला इंजेक्शन लगाकर उसके साथ गैगरेप करते थे। इतना ही नहीं महिला का गैंगरेप करने के दौरान के इन लोगों ने वीडियो भी बना डाला है।

महिला के मुताबिक इन चारों दोस्तों ने बंधक बनाकर गैंगरेप की घटना के बारे में किसी से जिक्र करने पर जान से मारने की धमकी दी है। महिला का कहना है है कि रेप का विरोध करने पर ये लोग उसकी पिटाई करते थे। नौ दिन तक गैंगरेप करने के बाद आरोपियों ने महिला को नशे की हालत में फरीदाबाद के बल्लभगढ़ में छोढ़कर फरार हो गए। वहां से होश आने पर महिला ने अपने घर फोन किया, इसके बाद देवर वहां पहुंचकर उसे घर पहुंचाया।

इसे भी पढ़ें: आतंकियों की गिरफ्तारी पर अखिलेश के बाद मायावती ने उठाए सवाल

सेहत में सुधार होने के बाद महिला ने सोहना सदर थाने में गैंगरेप की शिकायत दर्ज कराई है। शिकायत के आधार पर पुलिस मामले की जांच में जुट गई है। हालांकि अभी तक इस मामले में कोई गिरफ्तारी नहीं हो पाई है। जानकारी के मुताबिक सेहना गांव की रहने वाली 22 वर्षीय महिला पुलिस से की शिकायत में बताया है कि 29 जून को वह घर से पानी लेने के लिए गई थी। इसी बीच उसका परिचित चिंटू उससे मिला। चिंटू ने कुछ काम का वास्ता देकर अगले दिन यानी 30 जून को मिलने के लिए बुलाया था। अगले दिन सुबह पांच बजे मंदिर के पास वह उससे मिलने गई। वहां पहुंचने पर एक सफेद रंग की कार आई जिसे दीपक चला रहा था। कार के पीछे संजू बैठा हुआ था, जबतक वह कुछ समझ पाती सबने उसे कार में खींच लिया और फरीदाबाद की तरफ चल दिए।

महिला का आरोप है प्यास लगने की वजह से उसने पानी मांगा, उन लोगों ने उसे पानी दिया जिसे पीने के बाद वह बेहोश हो गई। होश आने पर उसने खुद को एक कमरे बंद पाया जहा शराब की बोतले रखी हुई थीं। महिला ने बताया कि 30 जून की रात कुलदीपक नाम एक युवक और कमरे में आया। इसके बाद चारों मिलकर उसके साथ गैगरेप करना शुरू कर दिया। उसने मना किया तो उसके साथ सभी ने मारपीट भी किया। हल्ला होता देख कुलदीप ने उसे इंजेक्शन लगा दिया, उसके बाद वह बेहोश हो गई। इसके बाद उसके साथ क्या क्या हुआ उसे नहींं पता। होश आने पर कमरे में संजू और दीपक दिखे। रात को चिंटू और दीपक आते थे और फिर सब मिलकर गैंगरेप करते थे।

इसे भी पढ़ें: गीता को पाठ्यक्रम में शामिल करना जरूरी

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here