हॉलमार्क अनिवार्य होने से सर्राफा कारोबार प्रभावित

0
382
Rahul Gupta

लखनऊ: सरकार ने 16 जून से हॉलमार्क अनिवार्य कर दिया है। सरकार के इस कदम का सर्राफा कारोबारियों ने स्वागत भी किया था लेकिन अब सब परेशान है और उनमें गुस्सा भी है। सरकार ने केवल उत्तर प्रदेश के केवल 19 जिलों में हॉलमार्क अनिवार्य किया है और 56 जिलों को हॉलमार्क से बाहर रखा है, जिस वजह से ये दिक्क़त आ रही है।

लखनऊ महानगर सर्राफा एसोसिएशन के महामंत्री राहुल गुप्ता ने बताया कि सर्राफा कारोबारी अभी lockdown से उभर भी नहीं पाए थे, उस पर ये हॉलमार्क जैसी मार ने परेशान कर दिया है।

इसे भी पढ़ें: 29 अगस्त को होगी प्रवेश परीक्षा

उन्होंने बताया की लखनऊ में इस समय सर्राफा का कारोबार केवल 10% ही रह गया है, हॉलमार्क अनिवार्य होने के बाद से अयोध्या, सुल्तानपुर, आजमगढ़, प्रतापगढ़, हरदोई, संडीला, अम्बेडकरनगर और बाकी के जिले जहां हॉलमार्क लागू नहीं हुआ है वहां से 16 जून के बाद से कोई भी लेनदेन नहीं हो पाया है। क्योंकि जिन जिलों में हॉलमार्क लागू नहीं है वहां के दुकानदार केवल उन जिलों को माल नहीं बेच सकते जहां हॉलमार्क लागू हो चूका है। इसके लिए उन्हें भी हॉलमार्क का रजिस्ट्रेशन करवाना पड़ेगा।

इसे भी पढ़ें: शास्त्र और लोक की परंपरा

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here