श्रीराम की संकल्पभूमि चित्रकूट में हिन्दू एकता महाकुंभ 15 को

0
87
Hindu Ekta Mahakumbh

चित्रकूट: भगवान श्रीराम की संकल्पभूमि चित्रकूट में आगामी 15 दिसंबर को हिन्दू एकता महाकुंभ का आयोजन होने जा रहा है। तुलसी पीठाधीश्वर, पद्मविभूषण, जगद्गुरु स्वामी रामभद्राचार्य के संरक्षण में आयोजित हो रहे इस महाकुंभ में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघ चालक मोहन भागवत जी इस कार्यक्रम के मुख्यातिथि होंगे। इस आयोजन में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री और गोरक्षपीठाधीश्वर महंत योगी आदित्यनाथ, श्री श्री रविशंकर, साध्वी ऋतंभरा, स्वामी चिदानंद मुनि, संत विजय कौशल, राजकुमार दास, सहित भारत के लगभग सभी सनातन वैदिक हिदू परंपरा के संत और मनीषी हिस्सा ले रहे हैं।

इस आयोजन के बारे में विस्तृत जानकारी देते हुए तुलसी पीठ के उत्तराधिकारी और संयोजक आचार्य रामचंद्र दास ने बताया कि यह आयोजन ऐसे समय मे हो रहा है जब देश और विश्व मे हिन्दू संस्कृति के विरूद्ध विभिन्न प्रकार के षड्यंत्र किये जा रहे हैं। कश्मीर में धारा 370 की समाप्ति, अयोध्या जी मे भव्य श्रीराममंदिर के निर्माण, काशी में बाबा विश्वनाथ कॉरिडोर के निर्माण, मथुरा में भगवान श्रीकृष्ण जनस्थली के उद्धार के साथ अनेक उल्लेखनीय कार्य आगे बढ़ चुके हैं। हिंदुओ की एकता को तोड़ने के लिए जाति, सम्प्रदाय और पंथों के विभाजक षड्यंत्र किये जा रहे हैं। ऐसे समय मे यह आयोजन कई मायनों में महत्वपूर्ण है।

इसे भी पढ़ें: अजीत कुमार सिंह को सेवा निवृत्तः पर दी गई विदाई

उन्होंने बताया कि इस आयोजन में यह पूरा प्रयास किया जा रहा है कि समग्र हिंदुत्व के सभी प्रतिनिधि इसमे शामिल होकर एक मंच से हिन्दू एकता का संदेश देकर सामाजिक एकता को मजबूती प्रदान करें। इस आयोजन में संतो के अलावा देश के सामाजिक सांस्कृतिक क्षेत्र के व्यापक प्रतिनिधित्व की भी कोशिश की जा रही है। इस क्रम में प्रख्यात अभिनेता आशुतोष राणा, महाभारत धारावाहिक की द्रौपदी और राज्यसभा की सदस्य रूपा गांगुली, पद्मश्री मालिनी अवस्थी, गायक और सांसद मनोज तिवारी, कवि गीतकार डॉ. कुमार विश्वास, मनोज मुंतशिर सहित अनेक संस्कृतिकर्मी भी हिस्सा ले रहे हैं।

आचार्य रामचंद्र दास ने बताया कि इस आयोजन में पांच लाख लोग एक स्वर में हिन्दू एकता का संकल्प लेंगे। आयोजन का आरंभ 14 दिसंबर को ही हो जाएगा जो 16 दिसंबर को समाप्त होगा।

इसे भी पढ़ें: एलपीजी सिलेंडर 100 रुपए मंहगा

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here