कल्याण सिंह के नाम से जानी जाएगी रामजन्मभूमि को जाने वाली सड़क

0
839
Kalyan Singh

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री रहे कल्याण सिंह (Kalyan Singh) का आज अंतिम संस्कार पूरे राजकीय सम्मान के साथ बुलंदशहर के नरौरा राज घाट पर किया जा रहा है। उनके अंतिम संस्कार में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पहुंचने वाले हैं। वहीं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सुबह ही पहुंच चुके हैं। राम भक्त कल्याण सिंह के निधन से जहां हर कोई उनके त्याग को याद कर श्री राम मंदिर निर्माण के जननायक के रूप में याद कर रहे हैं, वहीं उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य (Keshav Prasad Maurya) ने बड़ा एलान किया है। उन्होंने कहा ​कि अयोध्या में श्री रामजन्मभूमि को जाने वाले रास्ते का नामकरण कल्याण सिंह (Kalyan Singh) के नाम पर होगा।

Kalyan Singh

कल्याण सिंह के सम्मान में उप मुख्यमंत्री के इस एलान ने राम भक्त को राम से जोड़ दिया है। अब भगवान श्री राम का दर्शन करने वाले श्रद्धालु कल्याण सिंह मार्ग से होकर जाएंगे। रामजन्मभूमि से जुड़कर कल्याण सिंह ने अपनी जो छवि बनाई है वह अमिट ही रहेगी। वह अब हम लोगों के बीच नहीं हैं, लेकिन बाबरी विध्वंस और रामजन्मभूमि का जब भी जिक्र होगा कल्याण सिंह को जरूर याद किया जाएगा।

Kalyan Singh

रामजन्मभूमि के लिए कल्याण सिंह ने जो त्याग दिया है उसका और कोई दूसरा मिसाल हो ही नहीं सकता। मुलायम सिंह यादव ने जहां सत्ता बचाने के लिए कारसेवकों पर गोलियां चलवाई थी वहीं कल्याण सिंह ने कारसेवकों को बचाने के लिए सत्ता गंवा दी थी। बाबरी विध्वंस के बाद कल्याण सिंह ने इसकी नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था। इसके लिए उन्होंने प्रशासन या अन्य किसी को दोषी नहीं ठहराया था। उन्होंने कहा था कि वह कारसेवकों पर गोली चलाने का आदेश नहीं दे सकते। उनके इस त्याग से अयोध्या में जहां भव्य राम मंदिर का निर्माण कार्य शुरू हो गया है। वहीं वह राम भक्त के नाम से अमर हो गए हैं। हालांकि कल्याण सिंह का जीवन बेहद सादगी भरा रहा है।

पीएम मोदी के सामने पूरी की गई कल्याण सिंह की अंति इच्छा

Kalyan Singh

कल्याण सिंह और भाजपा के बीच ऐसा भी दौर आया जब उन्होंने पार्टी को छोड़ दिया, लेकिन भाजपा और कल्याण सिंह दोनों एक-दूसरे के पूरक बन गए थे। इसलिए उन्हें फिर से भाजपा में आना पड़ा। बताया जाता है कल्याण सिंह की अंतिम इच्छा थी कि पार्टी के झंडे में लपेट कर उनकी अंमि विदाई की जाए। उनकी इस इच्छा को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में पूरा किया गया। रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कल्याण सिंह के अंतिम दर्शन करने को पहुंचे थे। इस दौरा पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा व प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने कल्याण सिंह को पार्टी के झंडे में लपेटकर उनकी अंतिम इच्छा को पूरा किया।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें