तिहरे हत्याकांड में साजिशकर्ता मुख्य आरोपी की बहन अनीता गिरफ्तार

0
235
Gonda Superintendent of Police

प्रकाश सिंह

गोंडा: जब बात पुलिस की साख की आती है तो मामला किसी भी एंगल से मोड़ दिया जाता है। गोंडा जनपद के कोतवाली नगर क्षेत्र के शिवनगर इमलिया दयाल मोहल्ले में हुए तिहरे हत्याकांड में भी कुछ इसी तरह होता दिख रहा है। घटना के कई दिनों बाद मुख्य आरोपी की गिरफ्तारी न कर पाने वाली पुलिस मामले के साजिशकर्ताओं को गिरफ्तार कर वाहवाही लूटने में लगी हुई है। गोंडा पुलिस ने तिहरे हत्यकांड के उन्नाव जनपद के बिहार थाना क्षेत्र के ग्राम गुलरिहा निवासी मुख्य आरोपी अशोक कुमार की बहन अनीता पुत्री रामहेतु को गिरफ्तार किया है। पुलिस का आरोप है कि अनीता इस मामले की साजिशकर्ताओं में शामिल थी और अशोक कुमार ने उसके खाते में रुपए भेजे थे।

जबकि इससे पहले पुलिस ने अशोक कुमार के दोस्त को साजिश कर्ता के तौर पर गिरफ्तार करते हुए खुलासा किया था कि एक तरफा प्यार में अशोक कुमार ने लड़की व उसके घरवालों की हत्या किया था। पुलिस ने बताया था कि गिरफ्तार अशोक कुमार के दोस्त ने बताया था कि उसने घटना को अंजाम देने से पहले काफी रुपए निकाले थे। वहीं पुलिस ने जांच में पाया है कि घटना के 15 दिनों के अंदर अशोक कुमार ने अपनी सगी बहन अनीता कुमार के खाते में दो लाख रुपए भेजे थे।

इसे भी पढ़ें: सचिव परीक्षा नियामक संजय उपाध्याय गिरफ्तार

बता दें इससे पहले पुलिस ने मामले का खुलासा करते हुए महराजगंज जनपद के निचलौल थाना क्षेत्र के ग्राम रुदौली निवासी शत्रुघन पुत्र मुक्तिनाथ को गिरफ्तार किया था। पुलिस के मुताबिक उसने अपना जुर्म कबूल करते हुए मामले की साजिश में शामिल होने की बात स्वीकार कर लिया था। बता दें कि तिहरा हत्याकांड गोंडा पुलिस की साख पर सवाल बन गया है। मुख्य आरोपी अशोक कुमार की अभी तक गिरफ्तारी न होने की वजह से पुलिस की चौतरफा किरकिरी हो रही है। हालांकि पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार करने की लिए कई टीमें गठित की हैं, साथ ही आरोपी पर एक लाख रुपए का इनाम भी घोषित किया है। अपर पुलिस महानिदेशक गोरखपुर जोन ने कल घटना स्थल का निरीक्षण कर पुलिस अधिकारियों को मामले का जल्द से जल्द खुलासा करने का निर्देश भी दिया था।

बता दें कि बीते दिनों शिवनगर इमलिया गुरुदयाल में एक ही परिवार के तीन लोगों की हत्या कर दी गई थी। इसकी सूचना मिलते ही पुलिस उपमहानिरीक्षक देवीपाटन रेंज व पुलिस अधीक्षक गोंडा संतोष कुमार मिश्र मय पुलिसबल के साथ तत्काल मौके पर पहुचकर घटनास्थल का निरीक्षण कर आरोपी की शीघ्र गिरफ्तारी करने करने के लिए एसओजी/सर्विलांस सहित पुलिस की 12 टीमें गठित कर भिन्न-भिन्न जनपदों के लिए रवाना की गयी थी।

इसे भी पढ़ें: दिग्विजय ने जनसंपर्क कर मांगा आशीर्वाद

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here