लालू परिवार के ठिकानों पर CBI की छापेमारी, जानें अब किस घोटाले में शुरू हुई कार्रवाई

0
54
CBI raid on Lalu Prasad Yadav premises

नई दिल्ली: कहते हैं कि अतीत कभी पीछा नहीं छोड़ती। राष्ट्रीय जनता दल (राजद) प्रमुख लालू प्रसाद यादव (Prasad Yadav) के साथ यही हो रहा है। एक दौर था जब कहा जाता था कि जब तक रहेगा समोसे में आलू बिहार में रहेगा लालू। वक्त बदला और हालात बदले। पूरे बिहार पर राज करने वाले लालू प्रसाद यादव (Prasad Yadav) न सिर्फ सत्ता से बेदखल हुए बल्कि चारा घोटाले में जेल से बाहर आने को तरस रहे हैं। वहीं केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) ने शुक्रवार को लालू प्रसाद यादव (Prasad Yadav) और उनकी बेटी मीसा भारती (Misa Bharti) के 17 ठिकानों पर जमीन के बदले नौकरी देने के सिलसिले में छापेमारी (CBI raid) की। जानकारी के मुताबिक जांच एजेंसी ने इन लोगों के खिलाफ नया मामला दर्ज किया है। हालांकि सीबीआई टीम (CBI raid) ने इस पर अभी किसी तरह की टिप्पणी करने से इनकार कर दिया है। लेकिन सीबीआई सूत्रों की मानें तो पटना और गोपालगंज में विभिन्न स्थानों पर छापे मारे जा रहे हैं।

बताया जा रहा है यह छापेमारी वर्ष 2004 और 2009 के बीच रेलवे में नौकरी के बदले जमीन लेने से संबंधित है, उस समय लालू प्रसाद रेल मंत्री थे। उन पर आरोप है कि रेल मंत्री रहते हुए लालू प्रसाद ने रेलवे में नौकरी दिलाने के बदले में जमीन ली थी। बता दें कि इसी तरह की सीबीआई छापेमारी उस वक्त हुई थी, जब राज्य में महागठबंधन सरकार का शासन था। उस समय नीतीश कुमार सरकार में तेजस्वी यादव उप मुख्यमंत्री थे। वर्ष 2017 में हुई इस तरह की छापेमारी आईआरसीटीसी घोटाले से संबंधित थी।

CBI raid on Lalu Prasad Yadav premises

जानकारी के मुताबिक सीबीआई की छापेमारी शुक्रवार सुबह 7 बजे से कुछ पहले शुरू हुई। बताया जा रहा है कि पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के 10 सर्कुलर रोड स्थित आवास पर जब सीबीआई की टीम पहुंची तो वहां राबड़ी देवी, उनके विधायक पुत्र तेजप्रताप और बेटी मीसा भारती मौजूद थीं। इसके बाद मीसा भारती नई दिल्ली के लिए रवाना हो गईं। वहीं जानकारी मिल रही है कि लालू के सबसे छोटे बेटे और विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव इस समय लंदन में हैं। वे वहां एक यूनिवर्सिटी में स्पीच देने के लिए गए हैं।

इसे भी पढ़ें: आजम के रिहा होते ही बढ़ी सियासी तकरार

गोपालगंज स्थित लालू प्रसाद के पैतृक गांव फुलवरिया में भी सीबीआई की एक टीम छापेमारी कर रही है। उधर सीबीआई की छापेमारी की खबर फैलते बड़ी संख्या में राजद समर्थक राबड़ी स्थित आवास के बाहर जमा होकर भाजपा और सीबीआई के खिलाफ नारेबाजी कर रहे हैं। बताते चलें कि हाल ही में चारा घोटाले मामले में लालू यादव को झारखंड हाईकोर्ट से जमानत मिल गई है।

इसे भी पढ़ें: मस्जिद या मंदिर फैसला आज

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें