Bharat Bandh: भारत बंद का मिला-जुला असर, ग्रामीण क्षेत्रों में भी बंद रही दूकानें

0
323
Bharat Bandh

प्रकाश सिंह

बस्ती: संयुक्त किसान मोर्चा के आवाहन पर सोमवार को आयोजित भारत बंद का बस्ती में व्यापक असर रहा। बस्ती, हर्रैया, भानपुर, रुधौली तहसील क्षेत्रों के साथ ही सुदूर ग्रामीण क्षेत्रों में भी व्यापारियों ने आन्दोलन को समर्थन देते हुये अपनी दूकान और प्रतिष्ठान को बंद रखा। भारतीय किसान यूनियन के मण्डल उपाध्यक्ष दिवान चंद पटेल ने बताया कि सबेरे से ही बडी संख्या में किसान, मजदूर एवं समर्थन देने वाले विभिन्न संगठनों के लोग नेताजी सुभाष चन्द्र बोस तिराहे पर एकत्र हुआ और तीन कृषि कानून वापस लिये जाने, एमएसपी पर खरीद की गांरंटी दिये जाने, बिजली बिल वापसी, बड़े हुये डीजल, पेट्रोल, गैस मूल्य वृद्धि वापस लिये जाने, संस्थानों का निजीकरण रोके जाने, जीएसटी में सुधार सहित अनेक मांगों को लेकर नारा लगाते हुये आगे बढ़े।

बस्ती शहर में काफिला जिस ओर से भी गुजरा दूकानें बंद हो गई और लोगों ने समर्थन दिया। इसी कड़ी में हर्रैया में भाकियू के रामचन्द्र सिंह, राम मनोहर चौधरी, भानपुर में कन्हैया प्रसाद, श्याम नरायन, रूधौली में डा. आरपी चौधरी, कृष्ण कुमार के नेतृत्व में बाजारों को नारा लगाते हुये बंद कराया गया।

इसे भी पढ़ें: Bharat Bandh: किसानों के बंद में राजनीति का तड़का

भारत बंद कार्यक्रम में मुख्य रूप से भाकियू जिलाध्यक्ष जयराम चौधरी, रामनवल किसान, त्रिवेनी प्रसाद, घनश्याम, संतराम चौधरी, राजेन्द्र प्रसाद, दीप नरायन, विनोद चौधरी, ओम प्रकाश, रामचन्दर, दिलीप कुमार, माकपा के का. केके तिवारी, वीरेन्द्र मिश्र, सत्यराम, नवीनीत, भाकपा के का. अशर्फीलाल, रालोद के राधेश्याम चौधरी, रसोईया संघ से उर्मिला, सत्यराम, आम आदमी पार्टी के रामयज्ञ निषाद, सरदार सेना के वृजेश पटेल, आजाद समाज पार्टी, स्वराज इण्डिया, भीम आर्मी, अर्जक संघ, के साथ ही अनेक संगठनों के लोग भारत बंद में शामिल रहे।

इसे भी पढ़ें: प्रतियोगिता के प्रतिभागियों को किया सम्मानित

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here