Bareilly News: सामूहिक दुष्कर्म मामले में जुड़ा मेयर उमेश गौतम और उनके ड्राइवर का नाम

0
26
Bareilly News

Bareilly News: बरेली के मेयर डॉ उमेश गौतम (Dr. Umesh Gautam) महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में पूरी तरह से फंसते नजर आ रहे हैं। हालांकि पीड़िता को रसूखदार मेयर के सामने इंसाफ पाने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ रही है। बता दें कि 5 साल से बरेली नगर निगम में मेयर की कुर्सी पर काबिज रहते डॉ उमेश गौतम (Dr. Umesh Gautam) पर कई गंभीर आरोप लगे, लेकिन उनके रसूख के सामने कोई टिक नहीं सका। मगर इस बार महिला से सामूहिक दुष्कर्म करने के मामले में डॉ उमेश गौतम की मुश्किलें आने वाले दिनों में और बढ़ सकती है।

गौरतलब है कि एक महिला द्वारा लगाए गए सामूहिक दुष्कर्म के आरोपों पर मेयर डॉ उमेश गौतम पुलिस की जांच का सामना कर रहे हैं। पुलिस की जांच में महिला के बयान के आधार पर डॉ उमेश गौतम और उनके ड्राइवर के नाम केस में बढ़ा दिए गए हैं। हालांकि विवेचना में पुलिस को सामूहिक दुष्कर्म का अब तक ठोस साक्ष्य नहीं मिला है। मजे की बात यह है कि पुलिस ने इस मामले में कोर्ट के आदेश पर जांच शुरू किया है, जिससे मामले में पुलिस की भूमिका पहले से ही संदिग्ध है।

जानकारी के मुताबिक कोतवाली पुलिस ने महिला के बयान के आधार मेयर डा. उमेश गौतम और उनके चालक का नाम मुकदमे की जांच में बढ़ा दिया है। लेकिन पुलिस को जांच में मेयर और उनके चालक के खिलाफ कोई ऐसा तथ्य नहीं मिला, जिससे उन्हें दोषी ठहराया जा सके। पुलिस तथ्यों के आधार पर जांच कर रही है। इन्हीं साक्ष्यों के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

इसे भी पढ़ें: महिला डॉक्टर ने मेयर उमेश गौतम पर लगाया सामूहिक दुष्कर्म का आरोप

सिविल लाइंस क्षेत्र की एक महिला ने 7 दिसंबर, 2022 को कोतवाली में कार सवार अज्ञात लोगों के खिलाफ सामूहिक दुष्कर्म की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। 16 दिसंबर को महिला के न्यायालय में बयान हुए। शुक्रवार को महिला ने एसएसपी कार्यालय पहुंचकर मेयर डा. उमेश गौतम व उनके चालक प्रमोद कुमार समेत चार लोगों पर सामूहिक दुष्कर्म का आरोप लगाया था। पुलिस सूत्रों की माने तो विवेचना में महिला के बयान विरोधाभासी मिले हैं। महिला ने जिस स्थान की घटना दर्शाई थी। उस स्थान पर उस दिन और समय में मेयर मौजूद नहीं थे। बल्कि वह एक कार्यक्रम में थे। उस कार्यक्रम के वीडियो भी पुलिस के पास हैं। इंस्पेक्टर कोतवाली हिमांशु निगम ने बताया कि सामूहिक दुष्कर्म मामले की जांच की जा रही है। तथ्यों के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

इसे भी पढ़ें: 22 साल पुराने मामले में मुख्तार अंसारी समेत पांच पर हत्या का केस दर्ज

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें