एसोसिएशन ऑफ प्राइवेट स्कूल्स की मांग, 24 जनवरी से स्कूल खोलने की अनुमति दे सरकार

0
71
एसोसिएशन ऑफ प्राइवेट स्कूल्स want govenment give order to re open school
लखनऊ। एसोसिएशन ऑफ प्राइवेट स्कूल्स उत्तर प्रदेश (Association of Private School, UP) ने प्रदेश के मुख्य सचिव (Chief Secretary) को पत्र (Letter) प्रेषित किया है। इस पत्र में एसोसिएशन ऑफ प्राइवेट स्कूल्स ( (Association of Private School) ने बच्चों के हित में वर्ल्ड बैंक (World Bank) के ग्लोबल एजुकेशन डायरेक्टर जैमे सावेद्रा द्वारा दी गई सलाह के प्रकाश में प्रदेश के बंद पड़े स्कूलों को 24 जनवरी से खोलने का आदेश जारी करने की अपील की है। यह जानकारी एसोएिसशन के अध्यक्ष अतुल कुमार (Atul Kumar) ने दी।
यह भी पढ़े- 15 से 18 वर्ष के बच्चों को लगाए गए टीके
कोविड प्रोटोकाॅल का पालन कर रहे हैं स्कूल
अतुल कुमार ने कहा कि कोरोना महामारी (Covid-19) के कारण स्कूलों को तो बंद कर दिया गया किन्तु मार्केट, सब्जी मण्डी, दुकानों, बस, रेल, पार्क आदि को खुला रखा गया और यहाँ पर जो भीड़ हाल के समाचार पत्रों में प्रकाशित की गयी, उससे साफ दिखता है कि इन सार्वजनिक स्थानों पर कोविड प्रोटोकॉल (Covid Protocal) का बिलकुल ही पालन नहीं किया जा रहा है, जबकि सभी स्कूलों को बंद कर दिया गया जहाँ कि कोविड प्रोटोकॉल का पूरी तरह से पालन किया जा रहा है। अतुल कुमार (Atul Kumar) ने कहा कि अभी बीच में जब स्कूल खोले गये थे, उस समय ना केवल बच्चों की पढ़ाई सुचारू रूप से चल रही थी, बल्कि पूरे उत्तर प्रदेश में एक भी बच्चे को कोरोना होने की खबर नहीं आई थी। ऐसे में स्कूलों को बंद किया जाना बच्चों के साथ न्यायपूर्ण नहीं है।
स्कूल बंद करने का कोई औचित्य नहीं
अतुल कुमार ने यह भी कहा कि वर्ल्ड बैंक के ग्लोबल एजुकेशन डायरेक्टर जैमे सावेद्रा ने कहा है कि कोविड महामारी को देखते हुए स्कूलों को बंद रखने का अब कोई औचित्य नहीं है। जैमे सावेद्रा ने यह भी कहा कि उनकी टीम एजुकेशन सेक्टर पर कोविड-19 के प्रभाव पर नजर रख रही है, और इसका कोई सबूत नहीं है कि स्कूल खोलने से केसेज में बढ़ोत्तरी हुई है। उनके अनुसार कोरोना संक्रमण (Corona Infection) का स्कूलों को खोलने या बंद करने से कोई लेना-देना नहीं है। ऐसे में रेस्टोरेन्ट, बार और शॉपिग मॉल, सब्जी मण्डी एवं दुकानों आदि को खुला रखने और स्कूलों को बंद रखने का कोई मतलब नहीं है। अतः सरकार को बच्चों के हित को ध्यान में रखते हुए 24 जनवरी से प्रदेश के सभी स्कूलों को खोलने का आदेश देना चाहिए जिससे बच्चों की पढ़ाई सुचारू रूप से चल सके।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें