शास्त्र और शस्त्र पूजन के साथ दिया सामाजिक समरसता का संदेश

0
78
akhil bhartiya kshatriya mahasabha

बस्ती: अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा द्वारा विजयादशमी के अवसर पर प्रेस क्लब के सभागार में अध्यक्ष अवधेश कुमार सिंह के संयोजन में शस्त्र पूजन एवं विचार गोष्ठी का आयोजन किया गया। मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम और महाराणा प्रताप के चित्र पर मार्ल्यापण के साथ वक्ताओं ने शस्त्र पूजन के महत्व पर प्रकाश डाला। मुख्य अतिथि डॉ. राम नरेश सिंह मंजुल ने कहा कि शास्त्र और शस्त्र दोनो जीवन का अभिन्न अंग है। विजयादशमी के दिन महिषासुर पर महादेवी ने विजय प्राप्त करने के साथ ही मर्यादा पुरुषोत्त्तम श्रीराम ने रावण पर विजय प्राप्त किया। तभी इस दिन की राजाओं को प्रतीक्षा रहती थी कि शास्त्र पूजन के साथ यदि आवश्यकता हो तो वे युद्ध को तत्पर होते थे। ब्राम्हण ज्ञान के विस्तार के लिये शास्त्र का पूजन करते थे।

पूर्व सैनिक डॉ. आरजी सिंह ने कहा कि विजयादशमी के दिन शमी वृक्ष के पूजन का भी महत्व है। ऐसा माना जाता है कि युद्ध के समय पाण्डवो ने शमी वृक्ष पर अपने आयुध टांग दिये थे जिससे वे सुरक्षित रहे। कहा कि शस्त्र पूजन से मां दुर्गा की कृपा प्राप्त होती है। इससे जीवन में आने वाली विषमताएं, परेशानियां, कष्ट और दरिद्रता का नाश होता है। भगवान श्रीराम की पूजा करने से धर्म के मार्ग पर चलने वालों को विजय प्राप्त होती है।

akhil bhartiya kshatriya mahasabha

महासभा के महामंत्री घनश्याम सिंह ने कहा कि शास्त्र और शस्त्र पूजन के साथ ही नवग्रहों को नियंत्रित करने के लिए विजय दशमी पूजा का विशेष महत्व है। किसी भी नए काम को प्रारंभ करने के लिए यह दिन अतिउत्तम होता है। आयोजक एवं महासभा जिलाध्यक्ष अवधेश कुमार सिंह ने अतिथियों का स्वागत करते हुये कहा कि शास्त्र और शस्त्र दोनों का जीवन में महत्व है। पूजन से हमें आध्यात्मिक शक्ति प्राप्त होती है।

इसे भी पढ़ें: क्षेत्र का दौरा कर जरूरमंदों की मदद की

इस अवसर पर महासभा की ओर से दशरथ सिंह, कृष्ण प्रताप सिंह, दिनेश बहादुर पाल, जितेन्द्र बहादुर सिंह और अमरदेव सिंह को अंग वस्त्र, एवं हाई स्कूल, इण्टर मीडिएट में सर्वोच्च अंक प्राप्त करने वाले अस्मिता सिंह, अनामिका सिंह, अनुष्का सिंह, कृष्ण कुमार सिंह को स्मृति चिन्ह भेंटकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में मुख्य रूप से नन्दलाल सिंह, शत्रुघ्न सिंह, राघवेन्द्र प्रताप सिंह, सत्येन्द्र सिंह, आदर्श सिंह, भैरव सिंह, अखिलेश सिंह के साथ ही अनेक पदाधिकारी एवं विशिष्ट जन उपस्थित रहे।

इसे भी पढ़ें: किसानों के बीच लटकी मिली युवक की लाश

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here